.

छत्तीसगढ़ियावाद का दावा करने वाली कांग्रेस के मुख्यमंत्रीजी का कहां गया “वाद” : दयालदास बघेल chhatteesagadhiyaavaad ka daava karane vaalee kaangres ke mukhyamantreejee ka kahaan gaya “vaad” : dayaaladaas baghel

नांदघाट | [छत्तीसगढ़ बुलेटिन] | कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय नेतृत्व राष्ट्रीय महासचिव व सीईसी प्रभारी मुकुल वासनिक ने राज्यसभा सांसदों की उम्मीदवारों की घोषणा की। जिसमें छत्तीसगढ़ से राज्यसभा सांसद के लिए बिहार के नेता पप्पू यादव की पत्नी रंजीता रंजन को और गांधी परिवार के करीबी राजीव शुक्ला को बनाया गया है। कांग्रेस पार्टी के इस फैसले से छत्तीसगढ़िया लोगों की उपेक्षा से लोगों में रोष का माहौल है। प्रदेश के लोगों को सरकार से आस थी कि 2 सीटों में से कम से कम 1 सीट पर छत्तीसगढ़िया को टिकट देकर राज्यसभा भेजा जाएगा लेकिन ऐसा नहीं किया जाना छत्तीसगढ़ के साथ अन्याय है और छद्म राजनीति है।

 

छत्तीसगढ़ के नेताओं ने गैर छत्तीसगढ़िया का मुद्दा उठाते हुए राज्य सरकार पर जमकर तंज कसा। जिसपर छत्तीसगढ़ के पूर्व मंत्री दयालदास बघेल ने कांग्रेस, उनके नेताओं व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर निशाना साधते हुए बोले, कि क्या…..??? कांग्रेस की नजर में राज्यसभा भेजने के लिए छत्तीसगढ़ का एक भी योग्य उम्मीदवार नहीं मिला जो बाहरी लोगों गैर-छत्तीसगढ़ियों को छत्तीसगढ़ से राज्यसभा भेजा जा रहा है।

 

यह छत्तीसगढ़ के लोगों के साथ छलावा है। उनके हक का हनन है। छत्तीसगढ़ के लोग केवल भौरा, गेड़ी, हरेली-तिहार, पुन्नी-स्नान, तीजा-त्योहार मनाने के साथ-साथ सरकार बनाने और बिगाड़ने की भी शक्ति रखते हैं। श्रीमती सोनिया गांधी जी, प्रियंका वाड्रा जी, राहुल गांधी जी, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी और पीसीसी अध्यक्ष मोहन मरकाम जी; छत्तीसगढ़ के सीधे-साधे, भोले-भाले लोगों को ठगकर, छत्तीसगढ़ियावाद का सपना दिखाकर, बोरे – बासी खाकर और खिलाकर, फेसबुक, सोशल मीडिया और मीडिया में छत्तीसगढ़िया का ढोंग रचने वाले, छत्तीसगढ़ के लोगों को ठगने में कोई कसर नहीं छोड़ा है।

 

इधर बेरोजगारों के साथ खिलवाड़ करके नौकरी का झूठा आंकड़ा बताकर प्रदेश में बैनर-पोस्टर में झूठा श्रेय लेने वाले मुख्यमंत्री जी छत्तीसगढ़ के लोग से केवल गोबर उठवाकर रोजगार देने की बात करते हैं। और छत्तीसगढ़ के लोगों के लिए कोई खास कार्ययोजना नहीं है, उल्टा केंद्र से दिया जा रहा प्रधानमंत्री आवास योजना और कई योजनाओं को रोककर छत्तीसगढ़ को पिछड़ा और उपेक्षित कर आज राज्यसभा में बाहरी व्यक्तियों को उम्मीदवार बनाना छत्तीसगढ़ के लोगों का अपमान है।

 

छत्तीसगढ़ की योग्यता पर सवाल उठाता है। और इसका जवाब देने के लिए छत्तीसगढ़ की जनता तैयार है। कांग्रेस पार्टी का इस तरह का दिल्ली से चल रहा रिमोट कन्ट्रोल और छत्तीसगढ़ की उपेक्षा का जवाब देने को जनता बोरे-बासी खाकर तत्पर है। क्योंकि गर्मी के दिनों में हर छत्तीसगढ़िया रोज बोरे-बासी खाते रहते हैं।

 

दयालदास बघेल

Where did the Congress Chief Minister who claims Chhattisgarhiwad go to the “argument” : Dayaldas Baghel

 

 

Nandghat | [Chhattisgarh Bulletin] | National General Secretary of Congress Party and CEC in-charge Mukul Wasnik announced the candidates of Rajya Sabha MPs. In which Ranjeeta Ranjan, wife of Bihar leader Pappu Yadav, has been made for Rajya Sabha MP from Chhattisgarh and Rajiv Shukla, close to the Gandhi family.  Due to this decision of the Congress party, there is an atmosphere of anger among the people due to neglect of Chhattisgarhia people. The people of the state were expecting from the government that Chhattisgarhia would be sent to Rajya Sabha by giving ticket to at least 1 seat out of 2 seats, but not doing so is injustice to Chhattisgarh and is pseudo-politics.

 

The leaders of Chhattisgarh took a jibe at the state government, raising the issue of non-Chhattisgarhia. On which former Chhattisgarh minister Dayaldas Baghel targeted the Congress, their leaders and Chief Minister Bhupesh Baghel and said, what…..??? In the eyes of the Congress, not a single eligible candidate of Chhattisgarh was found to be sent to Rajya Sabha, which outsiders, non-Chhattisgarhis, are being sent to Rajya Sabha from Chhattisgarh.

 

This is a hoax with the people of Chhattisgarh. Their rights are violated. The people of Chhattisgarh not only celebrate Bhaura, Gedi, Hareli-Tihar, Punni-Snan, Teeja-festival but also have the power to form and destroy the government.  Mrs. Sonia Gandhi, Priyanka Vadra, Rahul Gandhi, Chief Minister Bhupesh Baghel and PCC President Mohan Markam; By duping the simple, gullible people of Chhattisgarh, by showing the dream of Chhattisgarhiyaism, by eating and feeding sacks, those who pretend to be Chhattisgarhia in Facebook, social media and media, have left no stone unturned to cheat the people of Chhattisgarh.

 

Here the Chief Minister, who has taken false credit in the banner-poster in the state by playing with the unemployed, telling false job figures, talks about giving employment to the people of Chhattisgarh only by picking up cow dung. And there is no special action plan for the people of Chhattisgarh, on the contrary, making Chhattisgarh backward and neglected by stopping the Pradhan Mantri Awas Yojana and many schemes being given from the center and making outsiders candidates in Rajya Sabha today is an insult to the people of Chhattisgarh.

 

raises questions on the merit of Chhattisgarh. And the people of Chhattisgarh are ready to answer this. This kind of remote control of the Congress party from Delhi and the neglect of Chhattisgarh, the people are ready to answer by eating sacks. Because during the summer, every Chhattisgarhia keeps on eating sacks and stale everyday.

 

 

©नवागढ़ मारो से धर्मेंद्र गायकवाड़ की रपट    

 

 

पहाड़ pahaad

 

 

 

Related Articles

Back to top button