.

हसदेव अरण्य बचाने आम आदमी पार्टी का हल्ला बोल, घेरा कलेक्टोरेट hasadev arany bachaane aam aadamee paartee ka halla bol, ghera kalektoret

अंबिकापुर | [छत्तीसगढ़ बुलेटिन] | हसदेव अरण्य बचाने के लिए आज आम आदमी पार्टी ने हल्ला बोला और कलेक्टोरेट कार्यालय का घेराव कर दिया। आप पार्टी व स्थानीय आदिवासी अदानी को आवंटित पारा kol ब्लॉक का विरोध कर रहे थे। इस दौरान बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे। आपात स्थिति से निबटने प्रशासन पूरी तरह अलर्ट रहा।

बता दें कि राज्य के हसदेव अरण्य में आदिवासी लगातार विरोध कर रहे है और पर्यावरण विशेषज्ञों की चेतावनी के बाद भी परसा कोयला खदान को मंजूरी दे दी है। यह कोयला खदान राजस्थान को आवंटित किया गया है।

 

सरकार के कहने पर ही भारत सरकार की संस्था वाइल्ड लाइफ इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (WII)ने हसदेव अरण्य का अध्ययन कर पिछले साल ही रिपोर्ट सौंपी है। WII ने अपनी रिपोर्ट में साफ-साफ कहा था कि यहां एक भी कोयला खदान को मंजूरी देने के विनाशकारी परिणाम होंगे, जिसे रोक पाना असंभव होगा।

WII (वाइल्ड लाइफ इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया) की रिपोर्ट अनुसार मध्यभारत का फेफड़ा कहे जाने वाले हसदेव अरण्य के इलाके में नये खदान की मंजूरी से जंगल का विनाश तो होगा ही, जंगल में रहने वाले हाथी, बाघ, तेंदुआ, भालू जैसे जानवरों का भी जीवन खतरे में आ जाएगा। साथ ही हाथी मानव संघर्ष अत्याधिक बढ़ेगा।

 

WII की रिपोर्ट के मुताबिक जलवायु परिवर्तन के कारण मौसम की मार झेल रहे मध्य भारत के सबसे घने जंगलों के विनाश से तापमान में औऱ बढ़ोत्तरी होगी और पानी संकलन में कमी के चलते सूखा पड़ने की आशंका है।

आम आदमी पार्टी ने आज प्रदर्शन करते हुए प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी के नेतृत्व में आज अंबिकापुर में लोगो को संबोधित करते हुए प्रदर्शन किया। कोमल हुपेंडी ज्ञापन कार्यक्रम में आम आदमी पार्टी छत्तीसगढ़ का जनता व हसदेव के लोगो के संघर्ष में साथ देने का शंखनाद किया।

सतनाम भवन तोड़े जाने के विरोध में मिनीमाता गुरुद्वारा प्रबंधन समिति ने मुख्यमंत्री के नाम मस्तूरी एसडीएम पंकज डाहिरे को सौंपा ज्ञापन | newsforum
READ

आम आदमी पार्टी के पदाधिकारियों की टीम जब गाँव वालों के साथ मिलकर जंगलों में गई जहां पेड़ो को काटने का काम देर रात में किया गया है। वहाँ मौके पर हालात को देखा और पाया गया कि बड़े बड़े लगभग 300 पेड़ो को रातों रात काट दिया गया। ये पेड़ महुआ, साल के बड़े बड़े पेड़ थे, साथ ही तेंदू पत्ते के छोटे झाड़ को भी नुकसान हुआ।

 

आप पार्टी के सदस्यों को गाँव के आनंदराम ने बताया कि इन पेड़ों से लगभग 50,000 का महुआ हमने बेचा था और प्रतिदिन तेंदूपत्ता संकलन से 1000 की कमाई होती है और इसी काम पर हम आदिवासी लोगो की आजीविका निर्भर है, जिसका आदिवासियों को उसको बड़ा नुकसान पंहुचा है।

 

आम आदमी पार्टी के अध्यक्ष कोमल हुपेंडी के नेतृत्व में, प्रदेश कोषाध्यक्ष जसबीर सिंह, सचिव संगठन विस्तार गोपाल साहू, प्रदेश यूथ विंग अध्यक्ष तेजेंद्र तोडकर, प्रदेश प्रवक्ता प्रियंका शुक्ला, सह संगठन मंत्री अधिवक्ता दिव्य प्रकाश यादव, अम्बिकापुर के जिला संयोजक अधिवक्ता कुंज बिहारी पैकरा, राजदीप शर्मा, आज़म मिर्ज़ा, बिलासपुर के संतोष बंजारे, दिनेश अनंत, खगेश केवट आदि हसदेव के आंदोलन में अपना समर्थन देते हुए आम लोगो के साथ प्रदर्शन किया और आश्वस्त किया कि आम आदमी पार्टी सदैव हर स्थिति में लड़ने को तैयार है।

 

अंत में कोमल हुपेंडी ने कहा कि समस्त तथ्यों को संज्ञान में लेकर आदिवासियों की मांगो को पूरा किया जाना चाहिए। यदि सरकार मामले को गंभीरता से लेते हुए, हमारी मांगो को 20 मई 22 तक नही मानती है, तो आम आदमी पार्टी द्वारा 21/05/22 को मुख्यमंत्री निवास का घेराव करेगी।

 

 


 

Aam Aadmi Party’s attack to save Hasdeo Aranya, circle collectorate

 

2 सौ रुपए घूस लेने का आरोप, 40 साल केस लड़ने के बाद कोर्ट से बरी 2 sau rupe ghoos lene ka aarop, 40 saal kes ladane ke baad kort se baree
READ

Ambikapur | [Chhattisgarh Bulletin] | In order to save Hasdev Aranya, the Aam Aadmi Party today made a ruckus and gheraoed the collectorate office. The AAP party and the local tribals were opposing the Para kol block allotted to Adani. During this a large number of people were present. The administration was fully alert to deal with the emergency situation.

 

Let us inform that the tribals are continuously protesting in the Hasdeo forest of the state and even after the warnings of environmental experts, the Parsa coal mine has been approved. This coal mine has been allotted to Rajasthan.

 

At the behest of the government, the Wildlife Institute of India (WII), an organization of the Government of India, has studied the Hasdev Aranya and submitted its report last year itself. WII had clearly stated in its report that sanctioning even a single coal mine here would have disastrous consequences, which would be impossible to stop.

 

According to the report of the WII (Wild Life Institute of India), the approval of a new mine in the area of ​​Hasdeo Aranya, which is called the lungs of central India, will not only destroy the forest, but also the life of animals like elephant, tiger, leopard, bear living in the forest. will be in danger. At the same time, elephant-human conflict will increase greatly.

 

According to the WII report, the destruction of the densest forests of central India, which is being hit by climate change due to climate change, will increase the temperature further and there is a possibility of drought due to reduction in water storage.

 

Aam Aadmi Party demonstrated today under the leadership of State President Komal Hupendi while addressing the people in Ambikapur today. In the Komal Hupendi memorandum program, the Aam Aadmi Party made a conch shell to support the people of Chhattisgarh and the people of Hasdev in the struggle.

जापान के कॉन्सुलेट जनरल के प्रतिनिधिमंडल ने CM भूपेश से मुलाकात कर निवेश की जताई इच्छा jaapaan ke konsulet janaral ke pratinidhimandal ne chm bhoopesh se mulaakaat kar nivesh kee jataee ichchha
READ

 

When the team of Aam Aadmi Party officials along with the villagers went to the forests where the cutting of trees has been done late in the night. There the situation was observed on the spot and it was found that about 300 big trees were cut overnight. These trees were big trees of Mahua, Sal, as well as small bushes of tendu leaves were also damaged.

 

Anand Ram of the village told AAP party members that we had sold Mahua worth about 50,000 from these trees and earned 1000 per day from tendu patta collection and on this work we depend on the livelihood of the tribal people, which caused great loss to the tribals. Is.

 

Under the leadership of Aam Aadmi Party President Komal Hupendi, State Treasurer Jasbir Singh, Secretary Organization Extension Gopal Sahu, State Youth Wing President Tejendra Todkar, State Spokesperson Priyanka Shukla, Co-Organization Minister Advocate Divya Prakash Yadav, Ambikapur District Convenor Advocate Kunj Bihari Paikra , Rajdeep Sharma, Azam Mirza, Santosh Banjare of Bilaspur, Dinesh Anant, Khagesh Kewat etc. demonstrated with the common people giving their support in Hasdev’s movement and assured that Aam Aadmi Party is always ready to fight in any situation.

 

In the end, Komal Hupendi said that the demands of the tribals should be fulfilled by taking all the facts into consideration. If the government, taking the matter seriously, does not accept our demands by 20 May 22, then Aam Aadmi Party will gherao the Chief Minister’s residence on 21/05/22.

 

 

 

Related Articles

Back to top button