.

क्रिप्टोकरेंसी फ्रॉड: छत्तीसगढ़ के शख्स से ठगी, विदेशी खातों के 4 करोड़ रुपए फ्रीज kriptokarensee phrod: chhatteesagadh ke shakhs se thagee, videshee khaaton ke 4 karod rupe phreej

राजनांदगांव | [छत्तीसगढ़ बुलेटिन] | पुलिस ने क्रिप्टोकरेंसी के एक बड़े फर्जीवाड़े पर कार्रवाई की है। 3 महीने में राजनांदगांव पुलिस ने क्रिप्टोकरेंसी धोखाधड़ी “शा झू पान“ (चीनी में अर्थ-रोमांटिक घोटाला) को सुलझाया है। पुलिस ने 3 विदेशी खातों में 4 करोड़ रुपये की राशि फ्रीज करवा दिया है। थाना कोतवाली में 420, 406 और 66, 66डी आईटी एक्ट के तहत FIR दर्ज होने के बाद सीएसपी गौरव राय (आईपीएस) ने इस मामले की जांच की थी। यह अपनी तरह का पहला मामला है, जिसमें राजनांदगांव में केस दर्ज किया गया है।

 

राजनांदगांव की पुलिस उक्त रकम को जब्त करने और ठगों को पकड़ने की दिशा में काम कर रही है। राजनांदगांव एसपी संतोष सिंह ने बताया कि संदिग्ध “एना-ली“ ने एक सोशल नेटवर्किंग साइट पर डॉ. अभिषेक पाल से दोस्ती की। मॉडल की तस्वीर लगाकर यह धोखाखड़ी की गई। पीड़ित को विदेशी मुद्रा ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म मेटाट्रेडर-5 में निवेश करने एक ब्रोकर ऑर्डे कैपिटल मैनेजमेंट लिमिटेड (लंदन में पंजीकृत एक शेल कंपनी) और क्रिप्टोकरेंसी ट्रांसफर करने के लिए एक्सचेंज बायनेंस की एक फर्जी वेबसाइट से धोखा दिया गया।

 

पीड़ित ने मेटाट्रेडर-5 में 35,000 $ अमरीकी डॉलर की राशि 31 लाख रुपये का निवेश किया था। उसका पोर्टफोलियो बढ़कर 107825 $ अमरीकी डॉलर हो गया था। जब डॉ. अभिषेक पाल ने अपने रुपये निकालने की कोशिश की, तब संदिग्ध ने खाते को फ्रीज कर दिया और उससे 107825 $ अमरीकी डॉलर की ठगी कर ली।

 

इंस्टाग्राम स्टार की तस्वीर का उपयोग

 

एसपी ने बताया कि जांच के दौरान यह पता चला कि संदिग्ध “एना-ली“ ने डॉ. अभिषेक को धोखा देने ताइवान के ताइपे नामक जगह की एक इंस्टाग्राम स्टार स्टेफ़नी तेह की तस्वीरों का उपयोग नकली खाता बनाने में किया था। क्रिप्टोकरेंसी के प्रवाह की जांच करने एक क्रिप्टोकरेंसी ट्रेल का मैप तैयार किया गया और सैकड़ों वॉलेट पते और हजारों लेन-देन की जांच करने पर 3 वॉलेट पते वापस बायनेंस से जुड़े मिले।

 

उपयोग हुए खाते लियू कियांग, विंग सैन त्से और गुओ पैन के नाम से पंजीकृत हैं। यह सभी चीनी नागिरक हैं। जांच अधिकारी के निवेदन पर तीनों के खातों में लगभग 4 करोड़ रुपये को फ्रीज किया गया है। पुलिस को आशंका है कि कई भारतीय “शू झू पान“ स्कैम के शिकार हो सकते हैं।

 

हर साल अरबों डॉलर की ठगी

 

एसपी ने बताया कि ’शा झू पान’ एक बड़ा स्कैम है। यह दक्षिण-पूर्व एशिया में सक्रिय बड़ा फ्रॉड ग्रुप है, जो अक्सर चीन से होता है। इसकी सबसे बड़ी विशेषता यह है कि वे पहले दोस्ती करते हैं और फिर धोखा देते हैं। कोई व्यक्ति विशेष अकेला इसका संचालन नहीं करता, बल्कि यह संगठित अपराध है। जांच में पाया गया कि 2000 से अधिक शेल कंपनियां लंदन में उसी पते पर पंजीकृत हैं, जहां ब्रोकर पंजीकृत था और सभी कंपनियों के डायरेक्टर चीन के निवासी है। क्रिप्टोकरेंसी फ्रॉड में लगभग 40% जांच ’शू झू पान’ घोटाले से संबंधित हैं।

 

Global Anti Scam Organization के अनुसार, ’शू झू पान’ स्कैमर्स दुनियाभर में हर साल अरबों डॉलर की ठगी करते हैं और इस प्रकार का संगठित अपराध सिंडिकेट मानव तस्करी और मनी लॉन्ड्रिंग में भी शामिल है। 2021 में FBI ने केवल अमेरिका में इस तरह के घोटालों से 1 बिलियन अमरीकी डॉलर के नुकसान की सूचना दी है।

 

फ्रॉड रिक्वेस्ट से रहें सावधान

 

राजनांदगांव एसपी संतोष सिंह ने अपील की है कि इंटरनेट पर मिले किसी व्यक्ति के रिक्वेस्ट पर ऐसे किसी भी फ्रॉड कंपनी में निवेश न करें। इतना बड़ा मुनाफा देने वाली कोई स्कीम जो ’टू गुड टू बी ट्रू’ होता है, ज्यादातर घोटाले होते हैं। क्रिप्टोकरेंसी स्वयं अधिक अस्थिर और जोखिम भरी संपत्ति हैं। निवेश करने से पहले जांच कर लें तो ऐसे घोटालों के जाल में फंसने से बच सकते हैं।

 

 

 

Cryptocurrency Fraud: Chattisgarh man cheated, Rs 4 crore frozen in foreign accounts

 

 

Rajnandgaon | [Chhattisgarh Bulletin] | The police have taken action on a major cryptocurrency fraud. In 3 months, Rajnandgaon Police has solved the cryptocurrency fraud “Sha Zhu Pan” (meaning-romantic scam in Chinese). Police has frozen Rs 4 crore in 3 foreign accounts. CSP Gaurav Rai (IPS) had investigated the matter after the FIR was registered under the 420, 406 and 66, 66D IT Act in police station Kotwali. This is the first case of its kind, in which a case has been registered in Rajnandgaon.

 

The police of Rajnandgaon is working in the direction of seizing the said amount and catching the thugs. Rajnandgaon SP Santosh Singh said that the suspect “Ana-Lee” befriended Dr. Abhishek Pal on a social networking site. This fraud was done by putting a picture of the model. The victim was duped by a broker Orde Capital Management Limited (a shell company registered in London) to invest in the forex trading platform MetaTrader-5 and a fake website of the exchange Binance to transfer cryptocurrencies.

 

The victim had invested an amount of USD 35,000 USD 31 lakh in Metatrader-5. His portfolio had grown to 107825 US dollars. When Dr. Abhishek Pal tried to withdraw his money, the suspect froze the account and duped him of USD 107825.

 

instagram star photo use

 

The SP said that during the investigation it was discovered that the suspect “Ana-Lee” had used photos of Stephanie Teh, an Instagram star from Taipei, Taiwan, to create a fake account to deceive Dr. Abhishek. A cryptocurrency trail was mapped to examine the flow of cryptocurrencies, and after examining hundreds of wallet addresses and thousands of transactions, 3 wallet addresses were traced back to Binance.

 

The accounts used are registered in the names of Liu Qiang, Wing San Tse and Guo Pan. These are all Chinese citizens. On the request of the investigating officer, about Rs 4 crore has been frozen in the accounts of the three. Police suspect that many Indians may be victims of the “Shu Zhu Pan” scam.

 

 Billions of dollars cheated every year

 

The SP told that ‘Sha Zhu Pan’ is a big scam. This is a large fraud group operating in Southeast Asia, most often from China. Its biggest feature is that they first make friends and then cheat. It is not a single individual operating it, rather it is organized crime. The investigation found that more than 2000 shell companies were registered in London at the same address where the broker was registered and the directors of all the companies were residents of China. Nearly 40% of investigations into cryptocurrency fraud are related to the ‘Shu Zhu Pan’ scam.

 

According to the Global Anti Scam Organization, ‘Shu Zhu Pan’ scammers defraud billions of dollars every year around the world, and this type of organized crime syndicate is also involved in human trafficking and money laundering. In 2021 the FBI has reported losses of US$1 billion from such scams in the US alone.

 

 Beware of fraud requests

 

Rajnandgaon SP Santosh Singh has appealed not to invest in any such fraud company on the request of any person found on the internet. Any scheme giving such huge profits which is ‘too good to be true’ is mostly scam. Cryptocurrencies themselves are more volatile and riskier assets. If you do your research before investing, you can avoid falling into the trap of such scams.

 

 

 

छत्तीसगढ़ के सुकमा में मुठभेड़, 5 लाख का खूंखार नक्सली कमलेश ढेर chhatteesagadh ke sukama mein muthabhed, 5 laakh ka khoonkhaar naksalee kamalesh dher

 

 

Related Articles

Back to top button