.

महाराष्ट्र में सरकार बदली; अब वहां नहीं जाएंगे, CM भूपेश बोले- हिम्मत है तो पूछताछ में कैमरा लगाओ mahaaraashtr mein sarakaar badalee; ab vahaan nahin jaenge, chm bhoopesh bole- himmat hai to poochhataachh mein kaimara lagao

रायपुर | [छत्तीसगढ़ बुलेटिन] | कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी को नेशनल हेराल्ड केस में ED (प्रवर्तन निदेशालय) द्वारा पूछताछ के लिए बुलाने का कांग्रेस ने विरोध किया। रायपुर में कांग्रेस ने ED के स्थानीय दफ्तर का घेराव कर दिया, जिसमें मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी शामिल हुए। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केंद्र की मोदी सरकार, पूर्व सीएम रमन सिंह और ईडी के अफसरों पर निशाना साधा।

 

उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में अब ईडी नहीं जाएगी, क्योंकि वहां सरकार बदल गई है। अब 10 ग्राम पकड़ने नारकोटिक्स वाले नहीं जाएंगे। ओडिशा जाए, जहां ट्रकों में लदकर गांजा उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश जाता है। अब वहां पकड़े।

 

भूपेश बघेल ने कहा कि अगर केंद्र सरकार में हिम्मत है। ED वालों ने अपनी मां का दूध पीया है तो सोनिया गांधी से हो रही पूछताछ में कैमरा लगा दें। उसको टीवी पर लाइव दिखाए। पूरा देश यह जानना चाहता है कि वहां क्या हो रहा है। उन्होंने कहा कि हमारे नेताओं ने गलत किया नहीं। नेशनल हेराल्ड में एक पैसे का लेन-देन नहीं हुआ है। जब मनी नहीं तो लांड्रिंग कहां से हो गई और ईडी का केस कैसे बना।

 

मैं ईडी के अधिकारियों से कहना चाहता हूं कि अपने घर में जाए और अपने बीबी-बच्चों की आंखों में आंख मिलाकर बताओ की तुमने क्या कार्रवाई की है। केंद्र सरकार के 3 साल पूरे हो गए। दो साल और बचे हैं। यह सरकार बदलेगी। तब तुम लोग आंख में आंख मिलाकर क्या जवाब दे पाओगे? भाजपा शासित राज्यों में कार्रवाई क्यों नहीं करते।

 

पैनामा, नान व चिटफंड की जांच क्यों नहीं करते

 

भूपेश बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और उसके बेटे ने पैनामा में गड़ब़ड़ी की है। ईडी इसकी जांच क्यों नहीं करती। नान घोटाले में एफआईआर इनके पास है, क्यों कार्रवाई नहीं करते। छत्तीसगढ़ के 6 हजार करोड़ रुपये चिटफंड कंपनियों में जमा हैं। रमन सिंह के परिवार के लोग ब्रांड एंबेसडर थे। हजारों करोड़ रुपये की मनी लांड्रिंग हुई है।

 

हमने जांच शुरू की तब 40 करोड़ की संपत्ति मिली है, जिसे निवेशकों को लौटाएं हैं। ईडी इसकी जांच कब करेगी। उन्होंने कहा कि भाजपा से जुड़ा मामला है। उसके पूर्व मुख्यमंत्री जुड़े हैं, इसलिए जांच नहीं करेंगे। भूपेश ने कहा कि डॉ. रमन सिंह कब ईडी कार्यालय जाएंगे। नान घोटाले में एफआईआर दर्ज है। सच्चे बन रहे हैं तो खुद ईडी कार्यालय में चल दें।

 

सीएम भूपेश बोले यह तो घटिया राजनीति है

 

भूपेश बघेल ने कहा कि सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री पद दो-दो बार ठुकरा दिया। 90 करोड़ रुपये कांग्रेस पार्टी का पैसा नेशनल हेराल्ड को दिया गया। 10 साल में 100 किस्तों में पैसा दिया गया। उसका पूरा ऑडिट हुआ है। 2015 में ED सोनिया गांधी के खिलाफ नेशनल हेराल्ड मामला बंद कर चुकी थी। कोई मनी लांड्रिंग नहीं हुई है। अब आप उसमें अपराधी बना रहे हैं। यह तो घटिया राजनीति है।

 

भूपेश बघेल ने कहा कि मैं अधिकारियों के जमीर को जगाना चाहता हूं। क्या आप इसलिए नौकरी कर रहे हैं। किसी एक दल को लाभ पहुंचाने दूसरे दल के लोगों को बदनाम करने करें। ईडी के अफसर आत्मचिंतन करें कि कार्रवाई सही कर रहे हैं कि नहीं। अपने बीबी-बच्चों की आंखों में आंख मिलाकर बताओ की तुमने क्या कार्रवाई की है।

 

नेशनल हेराल्ड को किस्तों में दिया गया पैसा

 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि स्वतंत्रता संग्राम के समय पंडित जवाहरलाल नेहरू सहित कांग्रेस के नेताओं ने नेशनल हेराल्ड अखबार का प्रकाशन शुरू किया था। बदली परिस्थितियों में वह अखबार घाटे में जाने लगा। उसको बचाने के लिए, कर्मचारियों को वेतन, संस्थान का बिजली बिल और करों आदि के भुगतान के लिए कांग्रेस पार्टी ने अखबार को 90 करोड़ रुपये दिए।

 

यह रकम 10 सालों में किस्तों में दी गई। कांग्रेस पार्टी का अखबार, कांग्रेस ही पैसा दे रही हैं और यह सरकार कह रही है कि मनी लांड्रिंग हो गई। बाप अगर अपने बेटे को पैसा दे तो क्या वह अपराध हो गया।

 

 

Change of government in Maharashtra; Will not go there now, CM Bhupesh said – If you have courage, then put a camera in interrogation

 

 

Raipur | [Chhattisgarh Bulletin] | The Congress opposed the summoning of Congress President Sonia Gandhi for questioning by the ED (Enforcement Directorate) in the National Herald case. In Raipur, Congress gheraoed the local office of ED, in which Chief Minister Bhupesh Baghel also joined. Chief Minister Bhupesh Baghel targeted the Modi government at the Center, former CM Raman Singh and ED officers.

 

He said that now the ED will not go to Maharashtra, because the government has changed there. Now those with narcotics will not go to catch 10 grams. Go to Odisha, where Ganja is loaded in trucks and goes to Uttar Pradesh and Madhya Pradesh. Now hold it there.

 

Bhupesh Baghel said that if the central government has the courage. If the ED people have drunk their mother’s milk, then put a camera in the interrogation of Sonia Gandhi. Show it live on TV. The whole country wants to know what is happening there. He said that our leaders did not do wrong. Not a single penny has been traded in the National Herald. When there is no money, where did the laundering happen and how was the ED case made.

 

I want to tell the ED officials to go to your house and look into the eyes of your wife and children and tell what action you have taken. 3 years of central government completed. Two more years left. This government will change. Then what will you be able to answer by looking eye-to-eye? Why not take action in BJP ruled states.

 

Why not check panama, naan and chit fund

 

Bhupesh Baghel said that in Chhattisgarh, former Chief Minister Dr. Raman Singh and his son have made a mistake in Panama. Why doesn’t ED investigate this? They have FIR in Naan scam, why don’t they take action. Chhattisgarh’s 6 thousand crore rupees are deposited in chit fund companies. Raman Singh’s family members were the brand ambassadors. There has been money laundering of thousands of crores.

 

When we started investigation, we have found assets worth 40 crores, which have to be returned to the investors. When will ED investigate this? He said that it is a matter related to BJP. His former chief minister is associated, so will not investigate. Bhupesh said that when will Dr. Raman Singh go to the ED office. FIR registered in Naan scam. If you are becoming truthful, then go yourself to the ED office.

 

 CM Bhupesh said this is bad politics

 

Bhupesh Baghel said that Sonia Gandhi had turned down the post of Prime Minister twice. The Congress party’s money of Rs 90 crore was given to the National Herald. The money was given in 100 installments in 10 years. It has been fully audited. In 2015, the ED had closed the National Herald case against Sonia Gandhi. No money laundering has happened. Now you are criminalizing it. This is bad politics.

 

Bhupesh Baghel said that I want to wake up the conscience of the officers. Are you doing this job? To benefit one party, defame the people of the other party. ED officers should introspect whether the action is being taken right or not. Look in the eyes of your wife and children and tell what action you have taken.

 

 

Money given in installments to National Herald

 

Chief Minister Bhupesh Baghel said that during the freedom struggle, Congress leaders including Pandit Jawaharlal Nehru had started publication of the National Herald newspaper. In the changed circumstances, that newspaper started going into loss. To save that, Congress party gave Rs 90 crore to the newspaper to pay salaries to the employees, electricity bill of the institute and taxes etc.

 

This amount was given in installments over 10 years. Congress party’s newspaper, Congress is giving money and this government is saying that money laundering has happened. If a father gives money to his son, has it become a crime?

 

 

मंत्री रविंद्र चौबे संभालेंगे पंचायत विभाग, अधिसूचना जारी mantree ravindr chaube sambhaalenge panchaayat vibhaag, adhisoochana jaaree

Related Articles

Back to top button