.

खत्म होगी नक्सलियों की दहशत! छत्तीसगढ़, झारखंड, ओडिशा समेत पांच राज्यों की पुलिस कसेगी नकेल | ऑनलाइन बुलेटिन

रायपुर | [छत्तीसगढ़ बुलेटिन] | माओवादियों समेत इनके प्रभाव वाले क्षेत्रों में अब 5 राज्यों की पुलिस समन्वय बनाकर इनपर नकेल कसेगी। बुधवार को बिहार के डीजीपी की अध्यक्षता में छत्तीसगढ़, बंगाल, झारखंड, ओडिशा और के डीजीपी समेत अन्य वरीय अधिकारियों के साथ ईस्टर्न रीजनल पुलिस को-ऑर्डिनेशन कमेटी की बैठक में यह निर्णय लिया गया। इसमें तय किया गया कि माओवादियों के प्रभाव वाले इलाकों में खासकर सीमावर्ती इलाकों में सिक्योरिटी गैप कम करने की जरूरत है ताकि माओवादियों पर नकेल कसी जा सके।

 

बैठक के दौरान झारखंड व छत्तीसगढ़ सीमा पर बूढ़ापहाड़, बिहार झारखंड की सीमा में गया- चतरा, बिहार के चकरबंधा, जमुई, बंगाल व ओडिशा से सटे कोल्हान के इलाके में अभियान को लेकर चर्चा की गई। इन इलाकों में समन्वय में आने वाली परेशानियों पर भी विमर्श किया गया। बैठक में झारखंड पुलिस की तरफ से डीजीपी नीरज सिन्हा, एडीजी अभियान संजय आनंद लाठकर, आईजी अभियान अमोल वी होमकर, आईजी विशेष शाखा प्रभात कुमार, अनूप बिरथरे शामिल हुए।

 

नशीले पदार्थों की तस्करी रोकने एक्शन प्लान

 

राज्य पुलिस प्रवक्ता सह आईजी अभियान अमोल वी होमकर ने बताया कि बैठक के दौरान अवैध शराब की तस्करी करने वाले अंतरराज्यीय गिरोहों पर लगाम कसने को लेकर चर्चा हुई। तस्करी रोकने के लिए एक्शन प्लान बनाने व गिरोह के अपराधियों को चिन्हित किए जाने पर राज्यों के डीजीपी ने चर्चा की।

 

सभी एसपी के साथ सीएम आज करेंगे समीक्षा बैठक

 

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन गुरुवार को राज्य के सभी जिलों के एसपी व डीआईजी के साथ समीक्षा बैठक करेंगे। बैठक के दौरान सभी जिलों में नक्सलियों के खिलाफ चलाए गए अभियान, बड़े आपराधिक गिरोहों पर कार्रवाई, चरमपंथी संगठनों के खिलाफ की गई गतिविधियों के साथ साथ अपराध के आंकड़ों पर भी चर्चा करेंगे। झारखंड में पूरी तरह से अवैध खनिजों की तस्करी रोकने को लेकर भी कोयला क्षेत्र के एसपी को पूर्व में पुलिस मुख्यालय ने निर्देश दिए हैं।

गुरु-शिष्य ईको क्लब ने गांधी जयंती पर चारों को कचरा प्रबंधन के बारे में बताया | ऑनलाइन बुलेटिन
READ

 

 

Big News: इंस्‍पेक्‍टर को रेप की कोशिश पर FIR दर्ज न करने पर मिला बड़ा सबक, जज ने पॉक्‍सो एक्‍ट में भेजा जेल | ऑनलाइन बुलेटिन

 

 

 

 

Related Articles

Back to top button