.

लगने की स्थिति में प्राथमिक चिकित्सा: उपचार के महत्वपूर्ण तरीके

गर्मी का मौसम शुरू हो चुका है और कई जगहों पर तापमान तेजी से बढ़ रहा है. ऐसे में लू लगने का खतरा भी काफी बढ़ जाता है. लू लगने से शरीर का तापमान ज्यादा बढ़ जाता है, जिससे बेहोशी, दौरे और यहां तक ​​कि मृत्यु भी हो सकती है.

हाल ही में स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी एक गाइडलाइन ने लोगों का ध्यान इस ओर खींचा है कि लू लगने से बेहोश हुए व्यक्ति को गलती से भी पानी नहीं पिलाना चाहिए. यह सुनने में भले ही अजीब लगे, लेकिन इसके पीछे वैज्ञानिक कारण हैं.

क्यों नहीं देना चाहिए पानी?

लू लगने पर शरीर का तापमान अत्यधिक बढ़ जाता है. बेहोशी की हालत में अगर व्यक्ति को अचानक से पानी पिला दिया जाए, तो यह उसके लिए खतरनाक हो सकता है. ऐसा इसलिए क्योंकि शरीर का तापमान तेजी से कम होने से इलेक्ट्रोलाइट असंतुलन (Electrolyte Imbalance) की स्थिति पैदा हो सकती है. इससे व्यक्ति को दौरे पड़ने या हृदय गति रुकने का खतरा रहता है.

तो क्या करें?

अगर आप पाते हैं कि कोई व्यक्ति लू लगने के कारण बेहोश हो गया है, तो घबराएं नहीं. उसे तुरंत छायादार जगह पर ले जाएं और उसके कपड़े ढीले कर दें. इसके बाद  नीचे बताए गए उपाय करें.
शरीर को ठंडा करें: व्यक्ति के माथे, हाथों और पैरों पर ठंडा गीला कपड़ा रखें और पंखा चला दें.
पानी या तरल पदार्थ न दें: जैसा कि बताया गया है, बेहोशी की हालत में पानी या तरल पदार्थ न दें. इससे स्थिति और बिगड़ सकती है.
डॉक्टर से संपर्क करें: जल्द से जल्द एंबुलेंस को बुलाएं या बेहोश व्यक्ति को अस्पताल ले जाएं।

स्वास्थ्य मंत्रालय की सलाह

स्वास्थ्य मंत्रालय ने लोगों को गर्मी से बचने के लिए भी सलाह दी है. इसमें दिन में धूप में निकलने से बचना, ढीले और सूती कपड़े पहनना, घर से निकलते समय छाता या टोपी का इस्तेमाल करना और भरपूर मात्रा में तरल पदार्थों का सेवन करना शामिल है.

लू से कैसे बचें?

– दिन में 12 बजे से 3 बजे के बीच सीधी धूप में निकलने से बचें.
– घर से निकलते समय पानी की बोतल साथ रखें और बार-बार पानी पीते रहें.
– बाहर निकलते समय छाता या टोपी का इस्तेमाल करें.
– ढीले और सूती कपड़े पहनें.
– नारियल पानी, छाछ, फलों का रस जैसे तरल पदार्थों का सेवन करें.

गर्मी के मौसम में सावधानी बहुत जरूरी है. लू लगने से होने वाली बेहोशी की स्थिति में पानी पिलाने से बचें और तुरंत डॉक्टर की मदद लें. साथ ही, गर्मी से बचने के उपायों को अपनाकर हेल्दी रहें.


Back to top button