.

How to control cooler moisture: कूलर चलाने पर कमरे में बढ़ जाती है उमस, शरीर हो जाता है चिपचिपा, आजमाएं ये 5 हैक्स, ठंडक महसूस होगी जबरदस्त…

How to control cooler moisture:

 

How to control cooler moisture: नई दिल्ली | [गैजेट्स बुलेटिन] | ऑनलाइन बुलेटिन : भीषण गर्मी से लोगों का हाल-बेहाल है. कई राज्यों में तो पारा 45 डिग्री के ऊपर जा चुका है. न घर में चैन और ना ही बाहर. तेज, चिलचिलाती धूप और गर्म हवा के थपेड़े जब चेहरे को छूते हैं तो झुलस जाता है चेहरा. जिनके घरों में AC नहीं होता है वे कूलर से गर्मी में अपना काम चलाते हैं. गर्मी से बचने के लिए लोग तरह-तरह के जुगाड़ करते हैं. (How to control cooler moisture)

How to control cooler moisture: किसी के घर में AC सारा दिन चलता है तो कुछ लोग रूम कूलर और पंखे से ही काम चलाते हैं. एयर कंडीशनर में तो बैठते ही गर्मी तो दूर भागती ही है, शरीर भी पूरी तरह से ड्राई हो जाता है. पसीने के कारण होने वाली चिपचिपाहट महसूस नहीं होती है. लेकिन, जो लोग रूम कूलर का इस्तेमाल करते हैं, उन्हें इसमें उमस की समस्या काफी झेलनी पड़ती है. कई बार गलत तरीके से लोग कूलर का यूज करते हैं. इससे ठंड लगने की बजाय कमरा उमस से भर जाता है, जिससे खूब चिपचिपाहट महसूस होती है. आपको भी इस उमस से पाना है छुटकारा तो यहां बताए 5 टिप्स आजमाकर देखें.

 

How to control cooler moisture: उमस के कारण एक मिनट भी चैन से बैठना मुश्किल हो जाता है. यदि आपके भी कमरे में रूम कूलर या आउटडोर कूलर चलाने से उमस, चिपचिपाहट होती है तो हम आपको बता रहे हैं इस समस्या को दूर करने के कुछ टिप्स. एक बार आजमकार देखें. कूलर से निकलेगी सिर्फ ठंडी हवा, दूर होगी उमस की समस्या भी.

इन तरीकों से कूलर से होने वाली उमस करें दूर

  • कूलर चलाने पर यदि काफी उमस लगे और शरीर ड्राई रहने की बजाय चिपचिपा महसूस हो तो जाहिर सी बात है सारी रात आप करवटें ही बदलते रह जाएंगे. कुछ लोग कमरे के अंदर ही कूलर रख लेते हैं. ऐसा बिल्कुल भी न करें. हमेशा कूलर को कमरे से बाहर खिड़की, दरवाजे के बाहर रखें. इससे उमस नहीं होगी. रूम में मौजूद गर्म हवा कमरे को बंद करने पर अंदर ही रह जाती है. अधिक गर्मी होने के कारण कूलर का पानी हवा में नमी का कारण बनता है. इसी वजह से आपको उमस, चिपचिपाहट महसूस होती है. (How to control cooler moisture)

 

  • यदि कमरे के बाहर खिड़की के पास कूलर किसी वजह से नहीं रख पा रहे हैं तो कूलर में लगे वॉटर पंप को बंद कर दें और सिर्फ पंखा चलाएं. पानी के कारण ही उमस होता है. आपको थोड़ी तो राहत महसूस होगी.

 

  • उमस दूर करने के लिए आप कूलर और सीलिंग फैन या पंखा दोनों साथ चलाएं. साथ ही खिड़कियों को हल्का खोलकर रखें ताकि उमस महसूस ना हो. जब आप पंखा चलाएंगे तो इसकी हवा चारों तरफ कमरे में फैलेगी और कूलर की भी हवा फैलेगी पंखे के कारण, इससे चिपचिपाहट महसूस नहीं होगी. (How to control cooler moisture)

 

  • यदि आपके कमरे में एग्जॉस्ट फैन लगा है तो कूलर के साथ इसे भी ऑन कर लें. रूम में नहीं तो कमरे से एटैच्ड बाथरूम में लगे एग्जॉस्ट फैन को चला सकते हैं. इससे भी उमस से पीछा छूट सकता है.

 

  • आप कूलर को मीडियम स्पीड से हाई स्पीड पर चलाएं. इससे भी काफी हद तक रूम में मौजूद ह्यूमिडिटी कम होने लगेगी. अधिक हवा निकलने से भी नमी कम होती है. कूलर पैनल को भी निकाल सकते हैं. इससे हवा का इंटेक बढ़ता है, जिससे उमस से थोड़ी बहुत आपको राहत मिल सकती है और ठंडा महसूस हो सकता है. (How to control cooler moisture)

🔥 सोशल मीडिया

फेसबुक पेज में जुड़ने के लिए क्लिक करें

https://www.facebook.com/onlinebulletindotin

व्हाट्सएप ग्रुप में जुड़ने के लिए क्लिक करें

https://chat.whatsapp.com/Cj1zs5ocireHsUffFGTSld

 

ONLINE bulletin dot। n में प्रतिदिन सरकारी नौकरी, सरकारी योजनाएं, परीक्षा पाठ्यक्रम, समय सारिणी, परीक्षा परिणाम, सम-सामयिक विषयों और कई अन्य के लिए onlinebulletin.in का अनुसरण करते रहें.

 

🔥 अगर आपका कोई भाई, दोस्त या रिलेटिव ऑनलाइन बुलेटिन डॉट इन में प्रकाशित किए जाने वाले सरकारी भर्तियों के लिए एलिजिबल है तो उन तक onlinebulletin.in को जरूर पहुंचाएं।


Back to top button