.

NEET-NET विवाद पर बोले राहुल गांधी- नरेंद्र मोदी भारत में पेपर लीक को नहीं रोक पा रहे, हम संसद में इस मुद्दे को उठाएंगे

नई दिल्ली
कांग्रेस नेता और सांसद राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया। उन्होंने नीट मुद्दे और यूजीसी-नेट परीक्षा रद्द होने को लेकर पीएम मोदी पर जमकर निशाना साधा। राहुल गांधी ने कहा, "ऐसा कहा जा रहा था कि नरेंद्र मोदी ने यूक्रेन की लड़ाई रोक दी थी। इजराइल और गाजा की लड़ाई को भी नरेंद्र मोदी ने रोक दिया था। लेकिन किसी न किसी कारण में हिन्दुस्तान में जो पेपर लीक हो रहे हैं उन्हें नरेंद्र मोदी नहीं रोक पा रहे या फिर रोकना नहीं चाहते।"

हम संसद में इस मुद्दे को उठाएंगे- राहुल गांधी
जब उनसे पूछा गया कि क्या वह संसद में नीट और यूजीसी-नेट परीक्षा रद्द करने का मुद्दा उठाएंगे, तो कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कहा, "हां, हम संसद में इस मुद्दे को उठाएंगे।"

कुलपतियों को योग्यता के आधार पर नहीं रखा गया
नीट मुद्दे और यूजीसी-नेट परीक्षा रद्द होने पर राहुल गांधी ने कहा, "ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि हमारे सभी संस्थानों पर कब्ज़ा कर लिया गया है। हमारे कुलपतियों को योग्यता के आधार पर नहीं रखा गया है। बल्कि इसलिए क्योंकि वे एक विशेष संगठन से संबंधित हैं। और इस संगठन और भाजपा ने हमारी शिक्षा प्रणाली में घुसपैठ की है और इसे नष्ट कर दिया है। नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी के साथ अर्थव्यवस्था के साथ जो किया, वही अब शिक्षा प्रणाली के साथ किया गया है। ऐसा होने का कारण और जिस कारण से आप पीड़ित हैं, वह इसलिए है क्योंकि एक स्वतंत्र, उद्देश्यपूर्ण शिक्षा प्रणाली को नष्ट कर दिया गया है। यह बहुत महत्वपूर्ण है कि जो लोग यहां दोषी हैं, उन्हें कानून के दायरे में लाया जाए और उन्हें दंडित किया जाए।"

MP, गुजरात और यूपी इसका केंद्र
नीट परीक्षा में केंद्रीय शिक्षा मंत्री द्वारा एनटीए को क्लीन चिट दिए जाने पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा, "इन मामलों में उनकी कोई विश्वसनीयता नहीं है। अगर वे क्लीन चिट देते हैं, तो इसका कोई मतलब नहीं है, उनकी विश्वसनीयता शून्य है। हर कोई जानता है कि इसका केंद्र मध्य प्रदेश, गुजरात और उत्तर प्रदेश हैं।"
 
यह एक गहरा राष्ट्रीय संकट है- राहुल गांधी
नीट मुद्दे और यूजीसी-नेट परीक्षा रद्द होने पर कांग्रेस नेता ने कहा, "…अब, लोगों को स्पष्ट रूप से पता चल गया है कि हम एक आपदा पर बैठे हैं और हमारे पास एक ऐसी सरकार है जो अपंग है। यह एक गहरा राष्ट्रीय संकट है। मुझे (सरकार की ओर से) प्रतिक्रिया की कोई क्षमता भी नहीं दिखती।"

शिक्षा व्यवस्था पर एक संगठन का कब्जा
नीट मुद्दे और यूजीसी-नेट परीक्षा रद्द होने पर कांग्रेस सांसद ने कहा, "शिक्षा व्यवस्था पर एक संगठन ने कब्जा कर लिया है। उन्होंने हर पद पर अपने लोगों को बैठा दिया है। इसे उलटना होगा। दूसरी बात, घोषणापत्र में हमने साफ तौर पर कहा कि पेपर लीक होने के बाद कार्रवाई करना एक बात है लेकिन हमने यह भी कहा कि पेपर लीक होने से पहले जो व्यवस्थाएं थीं, यूनिवर्सिटी परीक्षाओं के नियम थे, उनका फिर से आकलन करना होगा, उनका अध्ययन करना होगा और उन्हें नया स्वरूप देना होगा। हमने अपने घोषणापत्र में ये दोनों बातें साफ तौर पर लिखी हैं और विपक्ष सरकार पर दबाव बनाकर इन दोनों चीजों को करवाने की कोशिश करेगा।"


Back to top button