.

उत्तरप्रदेश के दो तस्करों को उड़ीसा से गांजा लेकर रायपुर आते हुए पकड़ा

कोंडगांव

छत्तीसगढ़ में गांजा तस्करी का मास्टर माइंड फरार हो गया है। कोंडागांव पुलिस ने सोमवार को उत्तरप्रदेश के दो तस्करों को उड़ीसा से गांजा लेकर रायपुर आते हुए पकड़ा है। पुलिस ने तस्करों के पास से 11 लाख रुपये कीमती गांजा बरामद किया है।

बता दें, पुलिस लगातार अवैध मादक पदार्थों एवं पर अंकुश लगाने लगातार कार्रवाई कर रही है। इसी कड़ी में पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि उड़ीसा जगदलपुर की ओर से रायपुर की ओर जा रही एक ट्रक क्रमांक CG04 JC 9732 में अवैध पदार्थ का परिवहन किया जा रहा है।

कोण्डागांव पुलिस ने सूचना एक्शन लेते हुए एन एच 30 में बैरिकेट लगाकर ट्रक की तलाशी ली जिसमें 22 पैकेट गांजा बरामद किया गया। पुलिस ने दोनों तस्कर के पास से ट्रक में 11 लाख रुपये कीमत के एक क्विंटल 10 किलो गांजा और 7 लाख की ट्रक समेत कुल 18 लाख की संपत्ति जब्त कर आरोपियों को धारा 20 के तहत न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया है।

पुलिस की पूछताछ में आरोपियों ने बताया, कि फरस गांव निवासी सुब्रत राय जिम संचालक उनसे दो महीने पहले मिला था और उसने दोनों को जगदलपुर से गिट्टी गाड़ी रायपुर चलाने के लिये कहा था, जिसमें रखकर गांजा सप्लाई करने की बात कही थी। आरोपियों ने कहा, कि हम लालच में आकर तैयार हो गए। वह हर ट्रिप का दोनों आरोपियों को ₹20 हजार देता था। वह रायपुर धमतरी और अन्य जगहों में भी गांजा पहुंचवाता था।

पकड़े गए गांजा तस्करों ने अपना नाम- सतीश चंद्र प्रजापति, पिता प्रेम पाल  प्रजापति, उम्र 26 साल, निवासी कोटरा, जिला हाथरस, उत्तर प्रदेश और दूसरे आरोपी का नाम शुभम सिंह पटेल, पिता गया प्रसाद पटेल, उम्र 26 साल, निवासी नावेद, जिला चित्रकूट, उत्तर प्रदेश का निवासी होना बताया है।

वहीं गांजा तस्करी को लेकर थाना प्रभारी नरेश साहू ने बताया, कि उत्तरप्रदेश के दोनों तस्करी करने वालो को गिरफ्तार किया गया है। मुख्य आरोपी सुब्रत राय अभी फरार है, पहले भी तस्करी की घटनाओं में शामिल रहा है, उसकी तलाश कर रहे हैं।


Back to top button