.

7 हजार रेलवे स्टेशनों पर होगी 6 लाख सेल्समैनों की भर्ती 7 hajaar relave steshanon par hogee 6 laakh selsamainon kee bhartee

नई दिल्ली | [जॉब बुलेटिन] | केंद्र सरकार की महत्वपूर्ण योजना ‘एक स्टेशन, एक उत्पादन’ के तहत देशभर में रेलवे के 7 हजार से अधिक रेलवे स्टेशनों पर 6 लाख से अधिक लोगों को सैल्समैन की नौकरी मिलेगी। रेलवे ने इस बाबत अपनी नीति जारी कर दी है।

 

जारी नीति में कहा गया है कि प्रत्येक प्लैटफॉर्म पर योजना के तहत कम से कम दो स्थायी स्टॉल खोले जाएंगे। इसमें प्रत्येक शिफ्ट में कम से कम दो सेल्मैन की तैनाती की जाएगी। रेलवे बोर्ड के सदस्य (वित्त) ने 20 मई को सभी जोनल रेलवे महाप्रबंधकों को वोकल फॉर लोकल को बढ़ावा देने संबंधित दिशानिर्देश जारी कर दिए हैं।

 

इसमें यह भी उल्लेख किया गया है कि प्लैटफॉर्मों पर स्थायी स्टॉल-कियोस्क के अलावा पोर्टेबल स्टॉल व ट्रॉली आवंटित करने का अधिकार डीआरएम को होगा। इस बात का ध्यान रखा जाएगा कि मौजूदा स्टॉल-कियोस्क का व्यवसाय इससे प्रभावित नहीं होने पाए।

 

सभी स्टॉल-कियोस्क आकार और रंग-रूप में एक जैसे होंगे। इस नीति के अनुसार, स्टॉल का आवंटन समाज के कमजोर वर्ग और हाशिये पर खड़े लोगों को किया जाएगा। इसमें शिल्पकार-जुलाहा-दस्तकार, स्वयं सहायत समूह सहित केंद्र व राज्य सरकार के प्राधिकरणों की मांग पर स्टॉल दिए जांएगे।

 

 

6 lakh salesmen will be recruited at 7 thousand railway stations

 

 

New Delhi | [Job Bulletin] | Under the central government’s important scheme ‘One Station, One Production’, more than 6 lakh people will get jobs as salesmen at more than 7 thousand railway stations across the country. Railway has issued its policy in this regard.

 

The policy issued states that at least two permanent stalls will be opened under the scheme on each platform. In this, at least two salesmen will be deployed in each shift. Railway Board Member (Finance) has issued guidelines for promotion of Vocal for Local to all Zonal Railway General Managers on 20th May.

 

It has also been mentioned that the DRM will have the right to allot portable stalls and trolleys in addition to the permanent stall-kiosks on the platforms. Care will be taken that the business of the existing stall-kiosk is not affected by this.

 

All the stall-kiosks shall be identical in size and look. As per this policy, allotment of stalls will be made to weaker section of the society and marginalized people. In this, stalls will be given on the demand of central and state government authorities including craftsmen-weaver-craftsmen, self-help groups.

 

 

बामसेफ ने जातीय जनगणना की मांग पर कल बुलाया भारत बंद baamaseph ne jaateey janaganana kee maang par kal bulaaya bhaarat band BAMCEF calls India bandh tomorrow on demand of caste census

 

Related Articles

Back to top button