.

9 साल से ‘2611’ लिए घूम रहा था कन्हैया का हत्यारा रियाज 9 saal se 2611 lie ghoom raha tha kanhaiya ka hatyaara riyaaj

जयपुर | [राजस्थान बुलेटिन] | उदयपुर में कन्हैयालाल हत्याकांड की जांच कर रही एनआईए ने नया खुलासा किया है। अब आरोपियों के तार मुंबई में हुए आतंकी हमले से जुड़ते नजर आ रहे हैं। आरोपी मोहम्मद रियाज ने साल 2013 में एक बाइक खरीदी थी। तब उसके खास नंबर ‘RJ 27-AS-2611’ के लिए अलग से 1000 रुपए चुकाए गए थे। मालूम हो कि यह वही तारीख है जब मुंबई में आतंकी हमला 26/11 हुआ था।

 

उदयपुर में टेलर की हत्या के बाद मोहम्मत रियाज अत्तारी और गौस मोहम्मद इसी बाइक पर भाग रहे थे। पकड़े जाने से पहले इस बाइक पर दोनों ने 170 किमी तक का सफर तय कर लिया था। उदयपुर के क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी प्रभु लाल बामनिया ने कहा कि आरोपियों ने यह नंबर लेने के लिए आरटीओ में एक हजार रुपये का ड्राफ्ट भी जमा किया था। यह बाइक 15 मार्च, 2013 को पंजीकृत की गई थी।

 

पुलिस ने इस बात की भी पुष्टि की कि जिस बाइक से वे भाग रहे थे उसका रजिस्ट्रेशन नंबर आरजे 27 एएस 2611 था। इस पूरे घटनाक्रम से वाकिफ एक शख्स ने कहा कि ऐसी बातें उनकी कट्टरपंथी मानसिकता को दर्शाती हैं। वह जिस तरह के व्हाट्सएप ग्रुप चला रहा था और जो सामग्री वह पोस्ट कर रहा था, खासकर पिछले कुछ हफ्तों में ट्रिगर हो रहा था। हत्या के बाद उन्होंने जो वीडियो पोस्ट किया और जो उन्होंने बोली वह नफरत से भरी थी और उनकी कट्टरपंथी मानसिकता को दिखा रही थी।

 

गौरतलब है कि 26 नवंबर 2008 को मुंबई में हुए आतंकी हमला जिसे 26/11 के रूप में जाना जाता है। इस हमले में समुद्री रास्ते से मुंबई पहुंचे करीब एक दर्जन पाकिस्तानी आतंकियों ने 166 लोगों को मारा था।

 

 

Kanhaiya’s killer Riyaz was roaming around for ‘2611’ for 9 years

 

 

Jaipur | [Rajasthan Bulletin] | NIA probing Kanhaiyalal murder case in Udaipur has made a new disclosure. Now the strings of the accused seem to be connected with the terrorist attack in Mumbai. The accused Mohammad Riyaz had bought a bike in the year 2013. Then 1000 rupees were paid separately for his special number ‘RJ 27-AS-2611’. It is known that this is the same date when 26/11 terrorist attack took place in Mumbai.

 

After the murder of Taylor in Udaipur, Mohammad Riyaz Attari and Ghaus Mohammad were running on this bike. Before being caught, both of them had traveled up to 170 km on this bike. Udaipur Regional Transport Officer Prabhu Lal Bamnia said that the accused had also submitted a draft of Rs 1,000 in the RTO to get this number. This bike was registered on March 15, 2013.

 

The police also confirmed that the registration number of the bike they were fleeing was RJ27 AS 2611. A person aware of this entire incident said that such things reflect his fundamentalist mindset. The kind of WhatsApp groups he was running and the content he was posting was getting triggered especially in the last few weeks. The video he posted after the murder and what he spoke was full of hatred and was showing his fundamentalist mindset.

 

It is worth noting that the terrorist attack in Mumbai on 26 November 2008, which is known as 26/11. In this attack, about a dozen Pakistani terrorists who reached Mumbai by sea route killed 166 people.

 

 

 

बिन ब्याही मां नहीं बनना चाहती, गर्भपात की अनुमति मांगने दुष्कर्म पीड़िता की याचिका bin byaahee maan nahin banana chaahatee, garbhapaat kee anumati maangane dushkarm peedita kee yaachika

 

 

Related Articles

Back to top button