.

बहुजन समाज पार्टी में स्वार्थी, विश्वासघाती और बिकाऊ की जरूरत नहीं : मायावती bahujan samaaj paartee mein svaarthee, vishvaasaghaatee aur bikaoo kee jaroorat nahin : maayaavatee

लखनऊ | [उत्तर प्रदेश बुलेटिन] | बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो बहन मायावती ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में ताजा चर्चित राजनीतिक उठापटक सरकारी भ्रष्टाचार का नमूना है। भ्रष्टाचार से त्रस्त जनता ने यह भी देख लिया कि ट्रांसफर-पोस्टिंग में किस प्रकार का खेल हुआ। यह एक धंधा बन गया है। राज्य सरकार को मजबूर होकर इसका खुलासा करना पड़ा, हालांकि बड़ी मछलियों को बचाने का प्रयास लगातार जारी है। उन्होंने कहा कि दैनिक उपयोग की खाने-पीने की जरूरी वस्तुओं पर जिस प्रकार से जीएसटी टैक्स थोप दिया गया है। वह सरकार की गरीब-विरोधी नीति का ही जीता-जागता प्रमाण है।

 

बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो ने रविवार को गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल व तमिलनाडु के प्रदेश पदाधिकारियों के साथ बैठक में यह बातें कहीं।

 

बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे 4 दिन में धंस गया

 

उन्होंने कहा कि खर्चीले सरकारी विज्ञापनों, प्रचार आदि से लगातार सांप्रदायिक व धार्मिक विवादों के माध्यम से इन पर पर्दा डाला जा रहा है। प्रदेश की भाजपा सरकार अंतर्कलह व जातिवादी आंतरिक बिगाड़ का शिकार है।

 

जातिवाद, सांप्रदायिकता, भ्रष्टाचार और नेताओं की आपसी घमासान से विकास न जाने कब तक प्रभावित होता रहेगा? इनके विकास के दावे का यह हाल है कि नया बहुचर्चित बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे चार दिन में ही धंस गया।

 

उन्होंने कहा कि बहुजन समाज पार्टी में स्वार्थी, विश्वासघाती और बिकाऊ लोगों की जरूरत नहीं है। हमें मिशनरी सोच वालों पर भरोसा करते हुए आगे बढ़ाना है। वैसे तो यह समस्या हर पार्टी में पैदा हो गई है, जिससे विभिन्न राज्यों में सत्ता पलट व राजनीतिक अस्थिरता का माहौल है और धनबल का गंदा खेल जारी है। उन्होंने कहा कि बसपा स्वाभिमान का मूवमेंट ही एक मात्र सच्चा विकल्प है। यूपी, महाराष्ट्र, गुजरात आदि राज्यों में इसकी सबसे ज्यादा जरूरत है।

 

कुछ मुट्ठीभर धन्नासेठों को छोड़ कर देश के अधिकतर लोगों की आमदनी अठन्नी रह गई है, जबकि महंगाई के कारण वे रुपया खर्च करने को मजबूर हैं।

 

भारतीय रुपया का भाव अंतर्राष्ट्रीय बाजार में जिस तेजी के साथ रिकार्ड स्तर पर गिर रहा है। केंद्र सरकार को इस पर गंभीर व चिंतन करना चाहिए।

 

 

There is no need for selfish, treacherous and salespeople in Bahujan Samaj Party: Mayawati

 

 

Lucknow | [Uttar Pradesh Bulletin] | Bahujan Samaj Party (BSP) supremo Behen Mayawati has said that the latest political upheaval in Uttar Pradesh is a sample of government corruption. Corruption-stricken people also saw the kind of play in transfer-posting. It has become a business. The state government was forced to disclose it, although efforts are on to save the big fish. He said that the way GST tax has been imposed on essential items of daily use. It is a living proof of the anti-poor policy of the government.

 

The Bahujan Samaj Party supremo said these things in a meeting with the state office bearers of Gujarat, Maharashtra, Karnataka, Kerala and Tamil Nadu on Sunday.

 

 Bundelkhand Expressway collapsed in 4 days

 

He said that these are being veiled continuously through communal and religious disputes with costly government advertisements, publicity etc. The BJP government of the state is a victim of internal strife and casteist internal disturbances.

 

For how long will development continue to be affected by casteism, communalism, corruption and mutual tussle between leaders? Such is the condition of their development claim that the new Bundelkhand Expressway collapsed in just four days.

 

He said that there is no need of selfish, treacherous and salespeople in Bahujan Samaj Party. We have to move forward trusting the missionary thinkers. By the way, this problem has arisen in every party, due to which there is an atmosphere of overthrow and political instability in different states and the dirty game of money power continues. He said that the movement of BSP self-respect is the only true alternative. It is needed the most in states like UP, Maharashtra, Gujarat etc.

 

Barring a handful of wealthy people, the income of most of the people of the country has remained eighty, while due to inflation, they are forced to spend money.

 

The price of Indian Rupee is falling at a record level in the international market. The central government should think seriously on this.

 

 

ट्रैफिक कॉन्स्टेबल को सड़क पर मिला 45 लाख से भरा बैग, थाने में जमा कराया; सीएम भूपेश बघेल बोले- समाज के लिए आदर्श traiphik konstebal ko sadak par mila 45 laakh se bhara baig, thaane mein jama karaaya; seeem bhoopesh baghel bole- samaaj ke lie aadarsh

 

Related Articles

Back to top button