.

भाजपा के बने कैप्टन, पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने अपनी पार्टी का भी किया विलय | ऑनलाइन बुलेटिन

चंडीगढ़ | [पंजाब बुलेटिन] | पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भाजपा का दामन थाम लिया है। साथ ही उन्होंने अपनी पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस का भी भारतीय जनता पार्टी के साथ विलय कर दिया। पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, किरण रिजिजू, भाजपा नेता सुनील जाखड़ और भाजपा के पंजाब मुखिया अश्विनी शर्मा की मौजूदगी में भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।

 

इस दौरान केंद्रीय मंत्रियों ने उन्हें बुके देकर और माला पहनाकर स्वागत किया। पूर्व कांग्रेसी और पंजाब एसेंबली के डिप्टी स्पीकर अजायब सिंह भट्टी ने भी भाजपा ज्वॉइन कर लिया।

 

भाजपा ज्वॉइन करने के बाद कही यह बात

 

इस मौके पर पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पंजाब में पाकिस्तान से खतरे पर भी बात की। उन्होंने कहा कि चीन भी हमारे लिए लगातार खतरा बना हुआ है। उन्होंने कांग्रेस शासन के दौरान रक्षा मंत्री रहे एके एंटनी पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि हथियारों की खरीद की दिशा में नहीं उठाया गया कदम। भाजपा देश की रक्षा के लिए काम कर रही है। मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा का आभारी हूं।

 

उन्होंने कहा कि मुझे उम्मीद है कि पड़ोसी राज्यों में होने वाले चुनावों में हम बेहतर भूमिका निभा सकेंगे। इस मौके पर केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने कहा कि हमारी सोच है कि देश एकजुट होना चाहिए। पंजाब जैसे संवेदनशील राज्य का बहुत ख्याल रखने की जरूरत है। रिजिजू ने कहा कि मुख्यमंत्री रहते हुए कैप्टन अमरिंदर सिंह ने देश की सुरक्षा के आगे राजनीति को तवज्जो नहीं दी।

 

तोमर ने कहा- इसलिए हम साथ-साथ

 

इस मौके पर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा कि कैप्टन अमरिंदर का भाजपा में आना, इसके मायने हैं कि पंजाब में शांति और सुरक्षा के पक्षधर हैं। तोमर ने कहा कि उनके आने से भारतीय जनता पार्टी का ताकत बढ़ेगी और पंजाब में विकास के लिए ऐतिहासिक कदम होगा।

 

उन्होंने आगे कहा कि भारतीय जनता पार्टी एक ऐसी पार्टी है जिसमें हमेशा गर्व से कहा जाता रहा है कि सबसे पहले राष्ट्र और दूसरे नंबर पर पार्टी। इस सिद्धांत को कैप्टन अमरिंदर सिंह जी ने हमेशा अपने जीवन में अपनाया। इसी का परिणाम है कि आज हम सब लोग साथ-साथ हैं।

 

 

छत्तीसगढ़ में IAS अफसरों का ट्रांसफर: समीर बने मार्कफेड के MD, किरण को NRDA, भुवनेश के प्रभार में कटौती | ऑनलाइन बुलेटिन

 

 

Related Articles

Back to top button