.

चीन के वुहान में पशु बाजार से निकला कोरोना वायरस, दो नए शोध में किया गया दावा cheen ke vuhaan mein pashu baajaar se nikala korona vaayaras, do nae shodh mein kiya gaya daava

नई दिल्ली | [नेशनल बुलेटिन] | दुनियाभर में हाहाकार मचाने वाले कोरोना वायरस की उत्पत्ति को लेकर शोध अभी भी जारी है। नए शोध के अनुसार, कोरोना महामारी चीन से ही निकली और पूरी दुनिया में फैल गई। दो नए रिसर्च ने भी इसका खुलासा किया है। रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोना वायरस की उत्पत्ती चीन के वुहान में हुआनन सीफूड मार्केट में हुई। रिपोर्ट यह दर्शाता है कि वायरस बाजार में बेचे जाने वाले जानवरों से निकला है ना कि इसे किसी लैब में तैयार किया गया था। सीएनएन के अनुसार, दोनों रिसर्च को फरवरी में ऑनलाइन पोस्ट किया गया था और अब इसकी समीक्षा की गई है। इसके बाद उन्हें मंगलवार को साइंस जर्नल में प्रकाशित किया गया है।

 

हालांकि दोनों अध्ययनों ने अलग-अलग दृष्टिकोण अपनाए हैं, लेकिन दोनों एक ही निष्कर्ष पर पहुंचे हैं कि वुहान में पशु बाजार से वायरस के निकलने की सबसे अधिक संभावना है।

 

पहला अध्ययन क्या कहता है?

 

पहले अध्ययन में चीनी वैज्ञानिकों और जीवविज्ञानी माइकल वर्बे और एरिज़ोना विश्वविद्यालय के उनके सहयोगियों ने स्थानिक और पर्यावरणीय विश्लेषण का निर्धारण करने के लिए मैपिंग टूल और एक सोशल मीडिया ऐप का उपयोग करके डेटा का मिलान किया। उन्होंने दावा किया कि कोरोना वायरस संभवतः 2019 के अंत में बाजार में बेचे जाने वाले जीवित जानवरों में मौजूद था।

 

एपी समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक वर्बे ने कहा, “यह एक संकेत है कि वायरस उन लोगों में फैलने लगा जो बाजार में काम करते थे। इसके बाद स्थानीय समुदाय में भी फैलने लगे।” वैज्ञानिकों ने दावा किया कि सबसे पहले COVID-19 मामले बाजार के विक्रेताओं के बीच सामने आए जिन्होंने इन जीवित जानवरों या वहां खरीदारी करने वाले लोगों को बेचा। उनका मानना है कि जानवरों में दो अलग-अलग वायरस घूम रहे थे जो लोगों को संक्रमित करते थे।

 

 

अध्ययन में कहा गया है, “20 दिसंबर से पहले पाए गए सभी आठ सीओवीआईडी -19 मामले बाजार के पश्चिमी हिस्से से थे, जहां स्तनपायी प्रजातियां भी बेची जाती थीं।”

 

दूसरा अध्ययन

 

दूसरा अध्ययन यह निर्धारित करने के लिए एक सूक्ष्म विश्लेषण देता है कि दिसंबर 2019 में सबसे पहले नमूना जीनोम से शुरू होने वाला पहला कोरोना वायरस संक्रमण जानवरों से मनुष्यों में कब आया और फरवरी 2020 के मध्य तक फैल गया। इस शोध के अनुसार, कोरोना वायरस के शुरुआती संस्करण में संभवतः दो वंश थे, जिन्हें वैज्ञानिक ए और बी कहते हैं। इसने कहा कि ये वंश मनुष्यों में कम से कम दो क्रॉस-प्रजाति संचरण घटनाओं का परिणाम थे।

 

अध्ययन में दावा किया गया है कि पहला पशु-से-मानव संचरण संभवतः वंश बी से आया था और 18 नवंबर, 2019 के आसपास हुआ था। उन्होंने वंश बी प्रकार को उन लोगों में पाया जिनका पशु बाजार से सीधा संबंध था। उनका सुझाव है कि वंश A को जानवरों से मनुष्यों में वंश B से संक्रमण के हफ्तों या दिनों के भीतर पेश किया गया था। यह वंश उन मनुष्यों के नमूनों में पाया गया था जो बाजार में रहते थे या रहते थे।

 

Corona virus originated from animal market in Wuhan, China, claimed in two new research

 

 

New Delhi | [National Bulletin] | Research is still going on about the origin of the corona virus that has caused outcry around the world. According to new research, the corona epidemic originated from China and spread all over the world. Two new research has also revealed this. According to the report, the corona virus originated at Huanan Seafood Market in Wuhan, China. The report shows that the virus originated from animals sold in the market and not produced in a lab. According to CNN, both research were posted online in February and have now been reviewed. After this they have been published in the journal Science on Tuesday.

 

Although the two studies have taken different approaches, they both come to the same conclusion that the virus is most likely to have emerged from the animal market in Wuhan.

 

 What does the first study say?

 

In the first study Chinese scientists and biologist Michael Verbe and his colleagues at the University of Arizona matched data using mapping tools and a social media app to determine spatial and environmental analysis. He claimed that the corona virus was probably present in live animals sold in the market in late 2019.

 

“This is a sign that the virus started spreading to people who worked in the market. Then it started spreading to the local community,” Verbe said, according to the AP news agency report. Scientists claimed that the first COVID-19 cases were reported among market vendors who sold these live animals or people who shop there. They believe that there were two different viruses circulating in animals that used to infect people.

 

 

“All the eight COVID-19 cases detected before December 20 were from the western part of the market, where the mammal species was also sold,” the study said.

 

second study

 

The second study provides a microscopic analysis to determine when the first coronavirus infection passed from animals to humans, starting with the first sample genome in December 2019 and spreading through mid-February 2020. According to this research, the earliest version of the corona virus probably had two lineages, which scientists call A and B. It stated that these lineages were the result of at least two cross-species transmission events in humans.

 

The study claimed that the first animal-to-human transmission probably came from lineage B and took place around November 18, 2019. They found the lineage B type in people who had a direct relationship with the animal market. They suggest that lineage A was introduced from animals to humans within weeks or days of transition from lineage B. This lineage was found in samples from humans who lived or lived in the market.

 

 

ऐसा क्या था पेन ड्राइव में जिसे मेल करते ही बुझ गया पाकिस्तानी एजेंट का चेहरा, पढ़िए फार्मूला की चोरी का तीसरा व अंतिम भाग aisa kya tha pen draiv mein jise mel karate hee bujh gaya paakistaanee ejent ka chehara, padhie phaarmoola kee choree ka teesara va antim bhaag

 

 

Related Articles

Back to top button