.

ज्ञानवापी सर्वेः याचिकाकर्ता बोले- काले पत्थर का शिवलिंग, अलग से लगाई ईंट gyaanavaapee sarveh yaachikaakarta bole- kaale patthar ka shivaling, alag se lagaee eent

लखनऊ | [उत्तर प्रदेश बुलेटिन] | ज्ञानवापी मस्जिद वाराणसी में शिवलिंग के दावे पर तरह-तरह के सवाल उठाए जा रहे हैं। मुस्लिम पक्ष का कहना है कि यह शिवलिंग नहीं बल्कि वजूखाने में लगा फव्वारा है। वहीं हिंदू पक्ष के दावे के मुताबिक यह शिवलिंग है। चैनल आजतक पर याचिकाकर्ता के पति और सर्वे टीम में शामिल सोहनलाल यादव ने एक और बड़ा दावा किया। उन्होंने कहा कि यह स्ट्रक्चर इसलिए शिवलिंग जैसा है क्योंकि यह पूरा कालेपत्थर का बना है। इसके अलावा इसके बीच में कोई छेद नहीं है जिससे कि इसे फव्वारा माना जा सके।

 

सोहनलाल आर्य ने कहा, तथाकथित शिवलिंग के ऊपर सीमेंट से एक चौकोर ईंट चिपकाई गई है। जिसपर एक प्लस का निशान बना हुआ है। उन्होंने दावा किया कि सर्वे के दौरान झाड़ू की सींक डालकर देखा गया तो यह 6 इंच तक अंदर गई। लाइट लगाकर देखा गया, 6 इंच से ज्यादा सींक नहीं गई।

 

उन्होंने कहा, सर्वे के दौरान जब मुस्लिम पक्ष से पूछा गया कि क्या कहीं से यहां पानी लाने के लिए पाइप लगाई गई है तो लोगों ने कहा नहीं कोई पाइप नहीं लगाई गई है। सोहनलाल ने दावा किया कि नंदी से वजूखाने की दूरी 83 फीट की है। बीच में कृत्रिम दीवारें हैं। नंदी का मुंह सीधा शिवलिंग की तरफ है।

 

सोहनलाल के दावों को खारिज करते हुए मुस्लिम पक्ष के वकील अजयनाथ यादव ने कहा, पहली बात सोहनलाल खुद याचिकाकर्ता नहीं हैं। उन्होंने बताया कि यहां शिवलिंग की तरह का स्ट्रक्चर है। पत्थरनुमा आकृति पहले मंजिल पर है। उसके नीचे तहखाना है। तहखाने में जमीन में गड़ा कोई शिवलिंग नहीं मिला है। अभी तक कोर्ट में रिपोर्ट सब्मिट नहीं की गई है, उससे पहले ही ये लोग बाबा मिल गए का दावा करते हैं।

 

ज्ञानवापी मस्जिद के वजूखाने का वीडियो वायरल, देखें फव्वारा है या शिवलिंग gyaanavaapee masjid ke vajookhaane ka veediyo vaayaral, dekhen phavvaara hai ya shivaling

 

 


Gyanvapi Survey: Petitioner said – Shivling of black stone, brick installed separately

 

 

Lucknow | [Uttar Pradesh Bulletin] | Various questions are being raised on the claim of Shivling in Gyanvapi Masjid Varanasi. The Muslim side says that it is not a Shivling but a fountain in the Vazukhana. At the same time, according to the claim of the Hindu side, this is a Shivling. The petitioner’s husband and survey team member Sohanlal Yadav made another big claim on the channel Aaj Tak. He said that this structure is like Shivling because it is completely made of black stone. Apart from this, there is no hole in the middle so that it can be considered as a fountain.

 

Sohanlal Arya said, a square brick has been pasted with cement over the so-called Shivling. It has a plus sign on it. He claimed that during the survey, when the broom’s sink was seen, it went inside up to 6 inches. Viewed with a light on, did not sink more than 6 inches.

 

He said, during the survey, when the Muslim side was asked whether a pipe has been installed to bring water here, people said no, no pipe has been installed. Sohanlal claimed that the distance from Nandi to Vazukhana is 83 feet. There are artificial walls in the middle. Nandi’s face is directly towards the Shivling.

 

Rejecting the claims of Sohanlal, counsel for the Muslim side Ajaynath Yadav said, “First of all, Sohanlal is not the petitioner himself. He told that there is a structure like Shivling here. The stone figure is on the first floor. Below that is the cellar. No Shivling buried in the ground has been found in the basement. Till now the report has not been submitted in the court, even before that these people claim to have got Baba Mil Gaye.

 

 

पिंजरे से फुर्र हुआ ‘तोता’, 5 दिन से ‘मिट्ठू’ तलाश रही पुलिस pinjare se phurr hua tota, 5 din se mitthoo talaash rahee pulis

 

Related Articles

Back to top button