.

वरिष्ठ अध्यापकों को पदोन्नति में न्याय दिलाने के निर्णय का स्वागत- गहलोत varishth adhyaapakon ko padonnati mein nyaay dilaane ke nirnay ka svaagat- gahalot

सिरोही | [राजस्थान बुलेटिन] | शिक्षा विभाग में व्याख्याता पद पर पदोन्नति के लिए नये सेवा नियमों के आधार पर जारी हुई पदोन्नति पात्रता सूची से करीब 10 हजार वरिष्ठ अध्यापक बाहर होने से राज्य के शिक्षा मंत्री बी.डी.कल्ला ने विराम लगाते हुए कहा कि जो परम्परा चलती आ रही है वही पुराने नियमों के आधार पर ही सूची जारी करने के लिए राजस्थान शिक्षक संघ (प्रगतिशील) के प्रदेशाध्यक्ष श्यामलाल आमेटा एवं मुख्य महामंत्री धर्मेन्द्र गहलोत के नेतृत्व में प्रतिनिधि मण्डल में नरेन्द्र कुमार शर्मा, बृजमोहन मीणा, धुलीराम डांगी, रामबाबूसिंह सहित दर्जन भर पदाधिकारियों ने शिक्षा मंत्री का उनके जयपुर आवास पर धन्यवाद ज्ञापित किया।

 

संगठन के मीडिया प्रभारी गुरुदीन वर्मा के अनुसार संघ (प्रगतिशील) के प्रदेश मुख्य महामंत्री धर्मेन्द्र गहलोत ने राज्य के शिक्षा मंत्री कल्ला द्वारा नये नियमों के आधार पर व्याख्याता पदोन्नति की सूची में लगभग 10 हजार से अधिक वरिष्ठ अध्यापक सूची से बाहर होने पर भारी विरोध को देखते हुए पुराने नियम के आधार पर सूची बनाने की कार्य योजना प्रक्रियाधीन होने से राज्य भर में वरिष्ठ अध्यापकों ने सराहना की हैं।

 

नये नियम में व्याख्याता पदोन्नति के लिए योग्यता में स्नातक एवं स्तात्कोत्तर में समान विषय की शर्त रखी हैं। जबकि व्याख्याता सीधी भर्ती में योग्यता में स्नातक एवं स्तात्कोत्तर में समान विषय की अनिवार्यता में छूट प्रदान की हैं। एक ही पद पर भर्ती एवं पदोन्नति के नियम अलग-अलग होने से विसंगति सामने आ रही हैं।

 

प्रदेश भर के अब विज्ञान एवं गणित विषय के वरिष्ठ अध्यापकों को जिन्होने अन्य फैकल्टी में स्नातकोत्तर किया हैं उन्हें पदोन्नति का अवसर प्राप्त होंगे। आगामी व्याख्याता पद के लिए होने वाली डीपीसी में वरिष्ठ अध्यापक विज्ञान-गणित विषय में स्नातक एवं कला विषय में स्नातकोत्तर होते हुए भी व्याख्याता बन पायेंगे।

 

शिक्षा मंत्री बी.डी. कल्ला द्वारा पुराने नियमों से सूची बनाने के लिए निदेशालय को कार्य योजना बनाने पर वरिष्ठ अध्यापकों में खुशी देखी जा रही हैं।

 

धर्मेंद्र गहलोत

 

Welcome to the decision to provide justice to senior teachers in promotion- Gehlot

 

 

Sirohi | [Rajasthan Bulletin] | State Education Minister BD Kalla said that the tradition which has been going on has stopped due to the exclusion of about 10 thousand senior teachers from the promotion eligibility list issued on the basis of the new service rules for promotion to the post of lecturer in the Education Department. To issue the list on the basis of the same old rules, a dozen officials including Narendra Kumar Sharma, Brijmohan Meena, Dhuliram Dangi, Rambabu Singh, in the delegation led by the State President of Rajasthan Teachers Association (Progressive) Shyamlal Ameta and Chief General Secretary Dharmendra Gehlot, did education. Voted thanks to the minister at his Jaipur residence.

 

According to the organization’s media in-charge Gurudin Verma, the State Chief General Secretary of the Sangh (Progressive), Dharmendra Gehlot, on the basis of the new rules by the State Education Minister Kalla, on the basis of the new rules, about more than 10 thousand senior teachers in the list of lecturer promotion are out of the list. In view of this, senior teachers across the state have appreciated the work plan for making the list on the basis of the old rule.

 

In the new rule, the condition of equal subject in graduation and post graduation has been laid for the promotion of lecturer. Whereas in direct recruitment the lecturer has given relaxation in the qualification of graduation and post graduation in the same subject. Due to different rules of recruitment and promotion in the same post, discrepancies are coming to the fore.

 

Now senior teachers of science and mathematics across the state, who have done post-graduation in other faculties, will get promotion opportunities. Senior teachers in the DPC to be held for the next lecturer post will be able to become a lecturer despite being a graduate in science-mathematics and post-graduation in arts.

 

Education Minister B.D. Senior teachers are seeing happiness on Kalla preparing an action plan for the Directorate to make a list from the old rules.

 

 

 

देखें Video, 14 लाख देकर डॉक्टर ने खरीदी 62 लाख की पुरानी करेंसी, गिरफ्तार dekhen vidaio, 14 laakh dekar doktar ne khareedee 62 laakh kee puraanee karensee, giraphtaar

 

 

Related Articles

Back to top button