.

12 दिनों से चल रही कर्मचारियों की हड़ताल मंत्री रविन्द्र चौबे से चर्चा के बाद खत्म 12 dinon se chal rahee karmachaariyon kee hadataal mantree ravindr chaube se charcha ke baad khatm

रायपुर | [छत्तीसगढ़ बुलेटिन] | प्रदेश में पिछले 12 दिनों से चल रही कर्मचारियों की महंगाई भत्ता और सातवें वेतनमान पर गृह भाड़ा पर प्रदेश भर में कर्मचारी, अधिकारी फेडरेशन की पिछले 12 दिनों से हड़ताल चल रही थी। सोमवार से सभी कार्यालय गुलजार होंगे।

 

मंत्री रविन्द्र चौबे से चर्चा के बाद फेडरेशन ने बेमुद्दत हड़ताल वापस लेने का फैसला लिया है। कल कमर्चारियों की 5 घँटे बैठक हुई थी, मुख्यमंत्री के पहल पर मुख्य सचिव से चर्चा हुई थी।

 

आपको बतादें की कुछ देर पहले ही मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कर्मचारियों से काम पर लौटने की अपील की थी। हड़ताल से लोगों के काम नही हो रहे थे जिससे परेशानी हो रही थी, फेडरेशन ने मुख्यमंत्री की अपील को स्वीकार करते हुए हड़ताल को स्थगित कर दी है।

 

महंगाई भत्ता और सातवें वेतनमान पर गृह भाड़ा पर प्रदेश भर में कर्मचारी, अधिकारी फेडरेशन की पिछले 12 दिनों से हड़ताल चल रही थी जिससे कार्यलयों में कामकाज पूरी तरह से ठप्प पड़ा था। गुरुवार को हुई सभी संगठनों की बैठक के बाद छत्तीसगढ़ कर्मचारी, अधिकारी फेडरेशन के कोर ग्रुप बातचीत के लिए अधिकृत किया गया।

 

OnlineBulletin.in

 

The employees’ strike going on for 12 days ended after discussion with Minister Ravindra Choubey.

 

 

Raipur | [Chhattisgarh Bulletin] | For the last 12 days, there was a strike of the Employees, Officers Federation across the state on dearness allowance and house rent on the seventh pay scale for the last 12 days. All offices will be buzzing from Monday.

 

After discussion with Minister Ravindra Choubey, the Federation has decided to call off the indefinite strike. There was a 5-hour meeting of the employees yesterday, the Chief Secretary’s initiative was discussed with the Chief Secretary.

विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत की अध्यक्षता में आज यहां विधानसभा के समिति कक्ष में कार्यमंत्रणा समिति की बैठक आयोजित की गई...| Newsforum
READ

 

Let us tell you that some time ago Chief Minister Bhupesh Baghel had appealed to the employees to return to work. The people’s work was not being done due to the strike, which was causing problems, the Federation has postponed the strike accepting the appeal of the Chief Minister.

 

The Employees, Officers Federation was going on strike for the last 12 days across the state on dearness allowance and house rent on the seventh pay scale, due to which the work in the offices came to a complete standstill. After the meeting of all the organizations held on Thursday, the core group of Chhattisgarh Employees, Officers Federation was authorized for talks.

 

 

 

©नवागढ़ मारो से धर्मेंद्र गायकवाड़ की रपट   

किरता में दयावंत धर बांधे ने समाज-जागरण विषय पर दिए अपने वक्तव्य kirata mein dayaavant dhar baandhe ne samaaj-jaagaran vishay par die apane vaktavy

 

Related Articles

Back to top button