.

असम के नर्तक दल ने मछली पकड़ने के उत्सव पर आधारित दी ‘ला ली लांग’ लोक नृत्य की दी शानदार प्रस्तुति | ऑनलाइन बुलेटिन

रायपुर | [धर्मेंद्र गायकवाड़] | राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव के अन्तिम दिन असम के नर्तक दल ने दी ला ली लांग लोक नृत्य की शानदार प्रस्तुति। यह नृत्य असम के टेवा समुदाय के बीच अत्यधिक लोकप्रिय है।

 

यह त्यौहार फसल कटाई से जुड़ा हुआ है और मछली पकड़ने के उत्सव के दौरान इसे किया जाता है। मुख्य रूप से उपयोग किए जाने वाले संगीत वाद्ययंत्र ढोलक है।

 

आदिवासी बाहुल्य राज्य छत्तीसगढ़ में आयोजित हो रहे राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव का आज तीसरा व अंतिम दिन है। www.onlinebulletin.in अपने पाठकों के लिए नृत्य के कुछ अंश प्रस्तुत करेगा। कोशिश रहेगी कि हमारी टीम नृत्य की झलकियां आप तक हू-ब-हू पहुंचा सकें। हमसे जुड़ने के लिए आप फेसबुक पर online bulletin dot in सर्च करें और ट्विटर यूजर्स @onlinebulletin1 सर्च कर लाइक व फॉलों करें।

 

ये भी पढ़ें :

असम के लोक कलाकार बागदोई शीखला नृत्य की प्रस्तुति, बोड़ो जनजाति कृषि आधारित विषय नृत्य है | ऑनलाइन बुलेटिन

योग सम्मेलन : 1000 से अधिक साधको ने एक साथ किया सूर्य नमस्कार | ऑनलाइन बुलेटिन
READ

Related Articles

Back to top button