.

धुर नक्सलगढ़ गोण्डाहुर की मेधावी छात्रा सोनाली बाला बनी दसवीं टॉपर, डॉक्टर बनकर करना चाहती है सेवा dhur naksalagadh gondaahur kee medhaavee chhaatra sonaalee baala banee dasaveen topar, doktar banakar karana chaahatee hai seva

रायपुर | [छत्तीसगढ़ बुलेटिन] | माध्यमिक शिक्षा मंडल छत्तीसगढ़ के दसवीं बोर्ड के नतीजे आज आ गए हैं। छत्तीसगढ़ के कांकेर के धुर नक्सलगढ़ गोण्डाहुर की मेधावी छात्रा सोनाली बाला ने 592 अंकों के साथ संयुक्त रूप से प्रदेश में टॉप किया है। मेधावी छात्रा सोनाली बाला को दसवीं में 98.67 प्रतिशत अंक मिले हैं। सोनाली गोण्डाहुर के शासकीय स्कूल की छात्रा है। उसका गांव गोण्डाहूर पीव्ही-52 ब्लाक मुख्यालय पखांजूर से 20 किमी की दूरी पर है। यह अति नक्सल प्रभावित इलाका है। मेधावी छात्रा सोनाली बाला का सपना डॉक्टर बनने का है।

 

छात्रा सोनाली बाला ने बताया कि अंदरूनी इलाका होने के कारण पढ़ाई में कई तरह की दिक्कतें आती थीं। ये ऐसा इलाका है जहां बिजली कभी भी गुल हो जाती है। ऐसे में पढ़ाई में भी खासी दिक्कतें आती थीं। छात्रा सोनाली बाला ने बताया कि उसके माता-पिता और स्कूल के शिक्षकों का विशेष योगदान रहा। तब जाकर उन्हें यह मुकाम मिला है। सोनाली 11वी में बायोलॉजी लेकर पढ़ाई करना चाहती है। साथ ही डॉक्टर बनकर अपने पिछड़े हुए क्षेत्र के लोगों की सेवा करना चाहती हैं।

 

माता-पिता व गुरुजनों के आशीर्वाद से मिली सफलता

 

मेधावी छात्रा सोनाली बाला के पिता जयदेव बाला पेशे से शिक्षक हैं। छात्रा सोनाली बाला हर दिन 8 से 10 घंटे रोजाना पढ़ाई करती थी। सोनाली ने बताया कि जब उन्हें समय मिलता था, तब पढ़ाई करती थी। उन्होंने अपने सफलता श्रेय माता-पिता को दिया है। सोनाली बाला बताती है कि पढ़ाई के दौरान पिता ने मार्गदर्शन किया। वहीं उनकी इस सफलता में गुरुजनों का भी विशेष योगदान रहा है। सोनाली के पूरे राज्य में प्रथम आने के बाद उनके घर ग्रामीणों का हुजूम लग गया।

बीजापुर-दंतेवाड़ा के सरहदी इलाके में माओवादियों का उत्पात, पीएम सड़क निर्माण में लगे 7 ट्रैक्टरों को फूंका | ऑनलाइन बुलेटिन
READ

 

Sonali Bala, a meritorious student of Dhur Naxalgarh, Gondahur, became the tenth topper, wants to serve as a doctor

 

Raipur | [Chhattisgarh Bulletin] | Board of Secondary Education Chhattisgarh’s tenth board results are out today. Sonali Bala, a meritorious student of Dhur Naxalgarh Gondahur, Kanker, Chhattisgarh has jointly topped the state with 592 marks. Meritorious student Sonali Bala has got 98.67 percent marks in class 10th. Sonali is a student of government school in Gondahur. His village Gondahur is at a distance of 20 km from PV-52 block headquarter Pakhanjur. This is a highly naxal affected area. Meritorious student Sonali Bala’s dream is to become a doctor.

 

Student Sonali Bala told that due to the inner area, there were many problems in studies. This is an area where the power goes out at any time. In such a situation, there were a lot of problems in studies also. Student Sonali Bala told that her parents and school teachers had a special contribution. Then he got this position. Sonali wants to study biology in 11th standard. Also, by becoming a doctor, she wants to serve the people of her backward area.

 

 Success came with the blessings of parents and teachers

 

Jaydev Bala, father of meritorious student Sonali Bala, is a teacher by profession. Student Sonali Bala used to study everyday for 8 to 10 hours every day. Sonali told that when she got time, she used to study. He credits his success to his parents. Sonali Bala tells that the father guided her during her studies. At the same time, the teachers have also made a special contribution in this success. After Sonali came first in the entire state, villagers gathered in her house.

नहीं रहीं शिक्षिका श्रीमती सुषमा लहरे | Newsforum
READ

 

 

 

©बिलासपुर से अनिल बघेल की रपट

 

 

 

 

Related Articles

Back to top button