.

स्कूलों में राज्यगीत से होगी प्रार्थना की शुरुआत, लेंगे एकता-समृद्धि की शपथ, समाचारों की हेडलाइन पढ़ेंगे बच्चे skoolon mein raajyageet se hogee praarthana kee shuruaat, lenge ekata-samrddhi kee shapath, samaachaaron kee hedalain padhenge bachche

रायपुर | [छत्तीसगढ़ बुलेटिन] | प्रार्थना में एकरूपता लाने स्कूलों में राज्यगीत को छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने अनिवार्य कर दिया है। अब प्रार्थना की शुरुआत राज्यगीत अरपा पैरी के धार… से होगी। वहीं समापन राष्ट्रगान से होगा। प्रार्थना के दौरान शाला नायक द्वारा रोजाना देश और प्रदेश की एकता और समृद्धि के लिए शपथ दिलाई जाएगी। प्रार्थना सभा के लिए 15 मिनट का समय निर्धारित किया गया है।

 

छत्तीसगढ़ से स्कूल शिक्षा विभाग ने स्कूलों में शैक्षणिक सत्र 2022-23 के लिए प्रार्थना सभा के संबंध में गाइडलाइंस जारी किया है। विद्यार्थियों द्वारा प्रार्थना सभा की शुरूआत राज्यगीत से की जाएगी। राज्यगीत के लिए एक मिनट 15 सेकेंड, शपथ के लिए एक मिनट, प्रेरणा गीत के लिए 2 मिनट, 5 मिनट में समाचार पत्र से सामान्य ज्ञान और राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय महत्व के मुख्य समाचारों की हेडलाइन का वाचन होगा। नैतिक व प्रेरक कहानी के लिए 5 मिनट और राष्ट्रगान के लिए 52 सेकेंड का समय निर्धारित किया गया है।

 

प्रेरणादायक गीत या प्रेरक कहानी सुनाएंगे बच्चे

 

प्रार्थना सभा की अगुवाई मासिक आकलन में सर्वाधिक अंक पाने वाले 5 विद्यार्थी करेंगे। इसके लिए प्रत्येक माह बच्चों का चयन किया जाएगा। शाला नायक द्वारा विद्यार्थियों को देश और प्रदेश की एकता और समृद्धि के लिए शपथ दिलाई जाएगी। विद्यार्थियों द्वारा कोई भी एक प्रेरणादायक गीत गाया जाएगा। जैसे- इतनी शक्ति हमें देना दाता…।

 

विद्यार्थियों द्वारा प्रतिदिन नैतिक या प्रेरक कहानी सुनाई जाएगी। विद्यार्थियों द्वारा राष्ट्रगान के साथ प्रार्थना सभा का समापन किया जाएगा। बता दें कि नरेंद्र वर्मा के लोकप्रिय गीत अरपा पैरी के धार… को 2019 में पहली बार राज्य गीत का दर्जा दिया गया है।

बसपा सुप्रीमो मायावती का यूपी में बड़ा ऐक्शन, बहुजन समाज पार्टी की सभी कमेटियां भंग, 3 नेताओं को बड़ी जिम्मेदारी | ऑनलाइन बुलेटिन
READ

 

प्रतिकात्मक चित्र

 

Prayers will begin with the state anthem in schools, will take the oath of unity and prosperity, children will read the headlines of the news

 

 

Raipur | [Chhattisgarh Bulletin] | The Congress government of Chhattisgarh has made the state song mandatory in schools to bring uniformity in prayer. Now the prayer will start with the state song Arpa Parri Ke Dhar. There it will end with the national anthem. During the prayer, Shala Nayak will take oath daily for the unity and prosperity of the country and the state. The time allotted for the prayer meeting is 15 minutes.

 

The Department of School Education from Chhattisgarh has issued guidelines regarding prayer meetings in schools for the academic session 2022-23. The prayer meeting will be started by the students with the state song. One minute 15 seconds for the state anthem, one minute for the oath, 2 minutes for the inspiration song, in 5 minutes there will be reading of general knowledge from the newspaper and headlines of the main news of national and international importance. 5 minutes for moral and motivational story and 52 seconds for national anthem.

 

 Children will tell inspirational song or motivational story

 

The prayer meeting will be led by the 5 students securing the highest marks in the monthly assessment. For this, children will be selected every month. Students will be administered the oath by Shala Nayak for the unity and prosperity of the country and the state. Any one inspirational song will be sung by the students. For example, the giver of giving us so much power….

कुंडलिया; नारी | ऑनलाइन बुलेटिन
READ

 

Moral or motivational story will be told daily by the students. The prayer meeting will be concluded with the national anthem by the students. Let us inform that Narendra Verma’s popular song Arpa Parri Ke Dhar… has been given the status of state song for the first time in 2019.

 

 

 

बिलासपुर में कॉमर्स के छात्र को जूनियरों ने घोंप दिया चाकू, 2 नाबालिग गिरफ्तार bilaasapur mein komars ke chhaatr ko jooniyaron ne ghomp diya chaakoo, 2 naabaalig giraphtaar

 

 

 

Related Articles

Back to top button