.

कांग्रेस प्रत्याशी विक्रमादित्य सिंह ने की हिमाचल रेजिमेंट बनाने की मांग

मंडी
लोकसभा चुनाव 2024 में हिमाचल प्रदेश की मंडी सीट पर भी दिलचस्प मुकाबला देखने को मिल रहा है. यहां से बीजेपी ने अभिनेत्री कंगना रनौत को अपना उम्मीदवार बनाया है, वहीं कांग्रेस ने सूबे के पूर्व सीएम दिवंगत वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह पर भरोसा जताया है. दोनों प्रत्याशी अपनी-अपनी जनसभाओं में एक दूसरे पर कटाक्ष और तंज कसने का एक भी मौका गंवा नहीं रहे. बता दें कि हिमाचल प्रदेश की चारों लोकसभा सीटों पर सातवें और आखिरी चरण में 1 जून को वोट डाले जाएंगे.

इस बीच विक्रमादित्य सिंह ने ​हिमाचल रेजिमेंट बनाने की मांग उठाई है. उन्होंने कहा, 'कैप्टन विक्रम बत्रा हों या सौरभ कालिया, जिस तरह से उन्होंने हिमाचल के लिए अपने प्राणों की आहुति दी है, अब समय आ गया है जब सेना में प्रदेश का अलग प्रतिनिधित्व होना चाहिए. मैं इस मुद्दे को लोकसभा में पूरी गंभीरता से उठाऊंगा कि भारतीय सेना में हिमाचल प्रदेश की भी एक रेजिमेंट हो.'

विक्रमादित्य सिंह ने आगे कहा, 'मैं जानता हूं कि डिफेंस में राज्यों को प्रमुखता (राज्य के नाम पर रेजिमेंट का नाम) नहीं दी जाती, लेकिन क्षेत्रीय आकांक्षाओं और रक्षा बलों में हिमाचल के युवाओं के उच्च प्रतिनिधित्व को देखते हुए, समय आ गया है कि जिन्होंने अपने जीवन का बलिदान दिया उनको उचित सम्मान देने के लिए सेना में राज्य के नाम पर एक अलग रेजिमेंट होनी चाहिए है.'

कंगना को शुरू करना चाहिए अपना कॉमेडी शो: विक्रमादित्य

मंडी संसदीय सीट पर बीजेपी प्रत्याशी से मिल रही चुनौती पर कांग्रेस नेता ने कहा, 'हिमाचल में कंगना के मनोरंजन का समय खत्म हो गया है. वह कपिल शर्मा जैसे हास्य कलाकारों को प्रतिस्पर्धा दे रही हैं. उन्हें मुंबई वापस जाकर अपनी फिल्में पूरी करनी चाहिए या कॉमेडी नाइट्स विद कंगना रनौत नाम से नया कॉमेडी शो शुरू करना चाहिए. मैं उनसे कठिन सवाल पूछता हूं, लेकिन वह हमेशा मुझ पर महिला विरोधी होने का आरोप लगाकर बचने की कोशिश करती हैं. उन्होंने ऐसे बयान दिए हैं जिन्हें सुनने के बाद लोग अपनी हंसी नहीं रोक पा रहे.'

'माता-पिता न हों तो विक्रमादित्य की जमानत जब्त हो जाएगी'

बता दें कि विक्रमादित्य सिंह ने कंगना रनौत को लेकर एक विवादित बयान दिया था और कहा था कि वह जिन मंदिरों में जा रही हैं, उन्हें धोकर पवित्र करना पड़ेगा. इस पर कंगना ने जवाब देते हुए उन्हें महिला विरोधी करार दिया. कंगना ने विक्रमादित्य को बिगड़ैल शहजादा बताते हुए कहा था कि अगर वह अपने माता-पिता के नाम पर वोट मांगना बंद कर दें तो मंडी से उनकी जमानत जब्त हो जाएगी. कंगना ने कहा था कि वह आज जो भी हैं अपने दम पर हैं, जबकि विक्रमादित्य की पहचान उनके मां-बाप से है.

 


Back to top button