.

बीजेपी की निलंबित प्रवक्ता नूपुर शर्मा को TV पर माफी का आदेश; पढ़ें सुप्रीम कोर्ट की 10 बड़ी बातें beejepee kee nilambit pravakta noopur sharma ko tv par maaphee ka aadesh; padhen supreem kort kee 10 badee baaten

नई दिल्ली | [कोर्ट बुलेटिन] | पैगंबर मोहम्मद पर विवादित टिप्पणी करने वाली बीजेपी की निलम्बित प्रवक्त नूपुर शर्मा पर सुप्रीम कोर्ट ने सख्त रुख अपनाया है। Nupur Sharma News अदालत में बीजेपी की निलम्बित प्रवक्त नूपुर शर्मा की ओर से दाखिल अर्जी में कहा गया था कि उनकी जान को खतरा है, ऐसे में वह देश के अलग-अलग हिस्सों में केसों की सुनवाई के लिए नहीं जा सकतीं। ऐसे में सभी केसों को दिल्ली ही ट्रांसफर कर दिया जाए। इस पर शीर्ष अदालत ने उन्हें कोई राहत तो नहीं दी, उलटे सख्त टिप्पणियां करते हुए उनसे माफी मांगने को कहा।

 

अदालत ने नूपुर शर्मा को फटकार लगाते हुए कहा कि उनके ही एक बयान के चलते माहौल खराब हो गया। यही नहीं अदालत ने कहा कि बीजेपी की निलम्बित प्रवक्त नूपुर शर्मा ने माफी मांगने में देरी कर दी और उनके चलते ही दुर्भाग्यपूर्ण घटनाएं हुई हैं। न्यायमूर्ति सूर्य कांत और न्यायमूर्ति जे बी पारदीवाला की बेंच ने पैगंबर के खिलाफ टिप्पणी के लिए विभिन्न राज्यों में दर्ज प्राथमिकियों को एक साथ जोड़ने की शर्मा की याचिका पर विचार करने से इनकार कर दिया। उन्हें याचिका वापस लेने की अनुमति दी। इसके साथ ही नूपुर शर्मा ने अदालत से अपनी अर्जी को वापस ले लिया।

 

अदालत ने कहा कि यह पूरा विवाद टीवी डिबेट के जरिए ही फैला है और उन्हें वहीं पर जाकर पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए। यही नहीं सुप्रीम कोर्ट ने इस दौरान दिल्ली पुलिस के रवैये पर भी सवाल उठाया है और कहा कि उनके खिलाफ कई केस दर्ज होने के बाद भी गिरफ्तारी क्यों नहीं की गई। इसके साथ ही अदालत ने नूपुर शर्मा की ओर से सुरक्षा की मांग को लेकर कहा कि उन्हें कोई खतरा नहीं है, लेकिन उनके बयान जरूर देश भर में खतरा बन गए हैं। यहां तक कि अदालत ने यह भी कहा कि उदयपुर में कन्हैया लाल की हत्या के लिए भी उनका ही बयान जिम्मेदार है। कोर्ट ने कहा कि किसी भी पार्टी का प्रवक्ता होने का यह मतलब नहीं है कि आपकी ओर से कुछ भी बोल दिया जाए।

 

आइए जानते हैं, अदालत ने बीजेपी की निलम्बित प्रवक्त नूपुर शर्मा पर क्या-क्या कहा-

 

1. यह पूरा विवाद टीवी से ही शुरु हुआ है और वहीं पर जाकर आप पूरे देश से माफी मांगें। आपने माफी मांगने में देरी कर दी, यह अंहकार भरा रवैया दिखाता है।

 

2. अदालत ने कहा कि उदयपुर जैसी घटना के लिए उनका बयान ही जिम्मेदार है। उनके बयान के चलते पूरे देश में हालात बिगड़ गए हैं।

 

3. नुपुर शर्मा ने पैगंबर के खिलाफ टिप्पणी या तो सस्ता प्रचार पाने के लिए या किसी राजनीतिक एजेंडे के तहत या किसी घृणित गतिविधि के तहत की।

 

4. ये लोग दूसरे धर्मों का सम्मान नहीं करते। अभिव्यक्ति की आजादी का यह अर्थ नहीं है कि कुछ भी बोला जाए।

 

5. न्यायालय ने पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ टिप्पणी को लेकर नुपुर शर्मा की माफी का उल्लेख करते हुए कहा कि यह बहुत देर से मांगी गई और उनकी टिप्पणी के कारण दुर्भाग्यपूर्ण घटनाएं हुईं।

 

6. उच्चतम न्यायालय ने नुपुर शर्मा को पैगंबर मोहम्मद पर टिप्पणी करने को लेकर फटकार लगाते हुए कहा कि उनके बयान व्यथित करने वाले हैं और इनसे अहंकार की बू आती है।

 

7. दिल्ली पुलिस पर भी सख्त टिप्पणी करते हुए अदालत ने कहा कि जब किसी के खिलाफ एफआईआर होती है तो वह व्यक्ति अरेस्ट किया जाता है। लेकिन किसी ने भी आपको छूने की हिम्मत नहीं की। इससे पता लगता है कि आपके पास कितना बड़ा कवच है।

 

8. नूपुर शर्मा जैसे लोग बयान देकर भड़काते हैं। इसके चलते देश में आग लग गई है। दिल्ली पुलिस से भी टिप्पणी की कि आपने अब तक कोई कार्रवाई क्यों नहीं की।

 

9. अदालत ने कहा कि यदि उन्हें केसों को ट्रांसफर कराना है तो फिर हाई कोर्ट में जाएं। हम इस पर कोई आदेश नहीं देंगे।

 

10. सीधे यहां केस दायर करके आपने दिखाया कि आपके पास ताकत का नशा है। आप मजिस्ट्रेट कोर्ट या फिर हाई कोर्ट नहीं गई हैं।

 

 

Suspended BJP spokesperson Nupur Sharma ordered an apology on TV; Read 10 big things of Supreme Court

 

 

New Delhi | [Court Bulletin] | The Supreme Court has taken a tough stand on the suspended BJP spokesperson Nupur Sharma for making controversial remarks on Prophet Mohammad. Nupur Sharma News In the application filed by BJP’s suspended spokesperson Nupur Sharma in the court, it was said that her life is in danger, so she cannot go to different parts of the country for hearing cases. In such a situation, all the cases should be transferred to Delhi itself. On this, the top court did not give him any relief, on the contrary, making strong comments, asked him to apologize.

 

The court reprimanded Nupur Sharma, saying that due to one of her statements, the atmosphere got spoiled. Not only this, the court said that BJP’s suspended spokesperson Nupur Sharma delayed apologizing and it was because of her that unfortunate incidents have happened. A bench of Justices Surya Kant and J B Pardiwala refused to entertain Sharma’s plea to club together the FIRs lodged in different states for the remarks against the Prophet. He was allowed to withdraw the petition. With this Nupur Sharma withdrew her application from the court.

 

The court said that this entire controversy has spread only through TV debate and they should go there and apologize to the whole country. Not only this, the Supreme Court has also questioned the attitude of Delhi Police during this period and said that why arrest was not made even after several cases were registered against them. Along with this, the court said on behalf of Nupur Sharma that she is not in danger, but her statements have definitely become a threat across the country. Even the court said that his statement was responsible for the murder of Kanhaiya Lal in Udaipur. The court said that being the spokesperson of any party does not mean that anything should be spoken on your behalf.

 

Let us know, what the court said on BJP’s suspended spokesperson Nupur Sharma-

 

1. This entire controversy has started from TV itself and going there you should apologize to the whole country. You are late in apologizing, it shows arrogant attitude.

 

2. The court said that his statement was responsible for the Udaipur-like incident. Due to his statement, the situation in the whole country has worsened.

 

3. Nupur Sharma made remarks against Prophet either to get cheap publicity or under some political agenda or under some hateful activity.

 

4. These people do not respect other religions. Freedom of expression does not mean saying anything.

 

5. The Court referred to Nupur Sharma’s apology for his remarks against Prophet Muhammad, saying it was sought after too late and his remarks led to unfortunate incidents.

 

6. The Supreme Court slammed Nupur Sharma for her remarks on Prophet Mohammad, saying her statements were disturbing and smacks of arrogance.

 

7. Making a strong comment on Delhi Police also, the court said that when there is an FIR against someone, that person is arrested. But no one dared to touch you. This shows how big of armor you have.

 

8. People like Nupur Sharma provoke by giving statements. Due to this, there has been a fire in the country. Also commented to Delhi Police that why you have not taken any action till now.

 

9. The court said that if they want to transfer the cases, then go to the High Court. We will not place any orders on this.

 

10. By directly filing a case here, you have shown that you have the intoxication of power. You have not gone to magistrate court or high court.

 

 

 

असाढ़ के महिना आगे asaadh ke mahina aage

 

 

 

Related Articles

Back to top button