.

नाली सफाई करते 2 सफाई कर्मचारियों की मौत, हाई कोर्ट ने लिया स्वत: संज्ञान; सरकार और निगम को नोटिस | ऑनलाइन बुलेटिन

नई दिल्ली | [कोर्ट बुलेटिन] | पिछले हफ्ते शहर में नाली की कथित तौर पर सफाई के दौरान 2 सफाई कर्मचारियों की मौत होने की घटना का सोमवार को दिल्ली उच्च न्यायालय ने स्वत: संज्ञान लिया और निर्देश दिया है कि इस मामले में जनहित याचिका दर्ज की जाए।

 

मुख्य न्यायाधीश सतीश चंद्र शर्मा और न्यायमूर्ति सुब्रमण्यम प्रसाद की पीठ ने 11 सितंबर की खबर के आधार पर दिल्ली नगर निगम, दिल्ली सरकार और दिल्ली जल बोर्ड को इस मामले में नोटिस जारी किया और अदालत की मदद करने के लिए वरिष्ठ वकील राजेश्वर राव को न्याय मित्र नियुक्त किया है। मामले की अगली सुनवाई 21 सितंबर को होगी।

 

पुलिस ने बताया था कि बाहरी दिल्ली के मुंडका इलाके में नौ सितंबर को एक सफाई कर्मचारी और एक सुरक्षा गार्ड की नाली की सफाई के दौरान जहरीली गैस के संपर्क में आने से मौत हो गई थी। वे नाली को साफ करने के लिए उसमें उतरे थे। मुख्य न्यायाधीश शर्मा ने राव से कहा, ‘आप खबरों को पूरा पढ़िए। मैं आपको वह सामग्री दूंगा जो आपकी मदद करेगी।’

 

उन्होंने कहा कि इस विषय पर उच्चतम न्यायालय का एक निर्णय है जो कहता है कि हाथ से नाली की सफाई का काम करने के दौरान किसी व्यक्ति की मृत्यु होती है तो उसके परिवार को कुछ सहायता मिलनी चाहिए, साथ में परिवार के एक सदस्य को नौकरी भी मिलनी चाहिए। मामले की अगली सुनवाई 21 सितंबर को होगी।

 

 

दादा-दादी की भव्यता को शब्दों में नहीं किया जा सकता बयां | ऑनलाइन बुलेटिन

छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के जस्टिस को सुप्रीम कोर्ट का जुडीशियल नोटिस.. कहा- छोटे केस को जल्द निपटाएं | ऑनलाइन बुलेटिन
READ

Related Articles

Back to top button