.

पानी की मटकी paanee kee matakee

©डॉ.रूपा व्यास

परिचय- रावतभाटा, राजस्थान.


 

(एक छात्र के गुरुजी से सवाल,जब छात्र को गुरु जी द्वारा उनकी पानी की मटकी से पानी पीने पर पीटा गया)

 

मास्टर जी मेरा

क्या दोष था?

केवल इतना कि

प्यास लगने पर

आपकी पानी-मटकी

से पानी पीना।

मैं तो था, नादान

बच्चा, मुझे नहीं

समझ, क्या मेरा?

क्या तेरा?

मैंने सबको समान

समझा।

क्या यही था, मेरा दोष।

आप तो हैं मेरे गुरु।

विद्यालय में समानता

का पाठ सीखा।

और आपने ही मुझे असमान

समझ लिया ।

मुझे तो समझ नहीं

आया, क्या प्यास

लगने पर पानी पीना

दोष है, तो हाँ हूँ, मैं

दोषी।

 

रूपा व्यास

©Dr. Roopa Vyas


 

water pot

 

(A student’s question to Guruji, when the student was beaten up by Guruji for drinking water from his water pot)

 

master ji mine

what was the fault?

only that

when thirsty

your pot

drink water from

it was me, naive

baby, not me

I understand, what?

what yours

i’m all the same

understood.

Was this my fault?

You are my teacher.

equality in school

Lesson learned.

And you’ve got me uneven

Understood .

i don’t understand

come, what thirst

drink water when

is to blame, so yes I am

Guilty.

 

 

प्रेरणा prerana

 

 

मुझसे तुम प्यार करो mujhase tum pyaar karo
READ

Related Articles

Back to top button