.

आफताब अमीन पूनावाला ने दिल्ली के इस तालाब में फेंका श्रद्धा का सिर? गोताखोरों की मदद से तलाश; कल हो सकता है ‘कसाई’ का नार्को टेस्ट | ऑनलाइन बुलेटिन डॉट इन

नई दिल्ली | [नेशनल बुलेटिन] | shraddha murder case: दिल्ली के खौफनाक श्रद्धा मर्डर केस में नई जानकारी सामने आई है। दिल्ली पुलिस एक तालाब  में श्रद्धा का सिर तलाश रही है। जी हां, ऐसी आशंका जताई जा रही है कि मैदान गढ़ी स्थित इस तालाब में श्रद्धा का सिर हो सकता है।

 

shraddha_murder_case: शुरू में यह खबर सामने आई थी कि दिल्ली पुलिस सिर को तलाशने के लिए तालाब के पानी को खाली करवा रही है। शुरू में दिल्ली पुलिस की टीम नगर निगम की टीम के साथ इस तालाब को खाली करवाने के प्रयास में थी। आसपास के लोगों ने मीडिया से बातचीत में कहा है कि करीब 100 टैंकर पानी तालाब से निकाले भी गए थे।

 

लेकिन बाद में दिल्ली पुलिस ने अपनी इस योजना को बदल दिया। लेकिन अब दिल्ली पुलिस गोताखोरों की मदद से इस तालाब में श्रद्धा के सिर की तलाश करेगी। बताया जा रहा है कि इस तालाब की गहराई करीब 25 से 30 फीट हो सकती है।

 

कहां है श्रद्धा का सिर? खुद आफताब ने बताया- रिपोर्ट में दावा

 

कुछ मीडिया रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा जा रहा है कि खुद आरोपी आफताब अमीन पूनावाला ने यह लीड दी है कि अगर पुलिस इस तालाब में आसपास जांच करें तो उसे सिर मिल सकता है। जिसके बाद पुलिस इस तालाब में श्रद्धा का सिर ढूंढ रही है। आसपास के लोगों का कहना है कि यह तालाब काफी पुराना है और इसकी गहराई काफी ज्यादा है।

 

इन लोगों ने मीडिया को यह भी जानकारी दी कि दिल्ली पुलिस की टीम सुबह से आई हुई थी। कुछ देर तक पानी निकालने के बाद पुलिस वापस चली गई अब पुलिस गोताखोरों की मदद ले सकती है और इस तालाब में श्रद्धा के सिर की तलाश तेज हो सकती है। इस तालाब का नाम मडूनी तालाब बताया जा रहा है।

जब एक युवा नेता ने प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को दी थी खुली चुनौती, सालभर में छीन ली गई थी गुजरात मुख्यमंत्री की कुर्सी | ऑनलाइन बुलेटिन डॉट इन
READ

 

श्रद्धा का सिर मिलना बेहद जरूरी

 

कहा जा रहा है कि दिल्ली पुलिस के पास पुख्ता जानकारी है कि श्रद्धा का सिर इसी तालाब में फेंका गया था। अब चूकि यह तालाब काफी गहरा है तो यहां सिर तलाशने में गोताखोरों को काफी मशक्तत करनी पड़ सकती है। श्रद्धा का सिर मिलना इस पूरे केस के लिए और दिल्ली पुलिस के लिए काफी जरूरी है। श्रद्धा का सिर मिलने के बाद मरने वाली लड़की की पहचान स्थापित हो पाएगी।

 

आफताब अमीन पूनावाला को उसके गुनाहों की सजा दिलाने के लिए फॉरेंसिक तथा अन्य तकनीकी तरीकों से लड़की की पहचान का स्थापित होने काफी जरूरी है। यह सिर दिल्ली पुलिस के लिए आफताब अमीन पूनावाला के खिलाफ बड़ा सबूत भी होगा।

 

17 हड्डियां अब तक मिल चुकीं

 

इस मामले में पुलिस लगातार सबूत जुटा रही है। इस बीच पुलिस ने अब तक 17 हड्डियां बरामद की हैं। हालांकि, यह सभी हड्डियां श्रद्धा की ही थीं, अभी इसकी पुष्टि नहीं हुई है। इन हड्डियों को जांच के लिए लैब में भिजवाया गया है। इनका डीएनए एनालिसिस भी किया जाएगा।

 

आफताब अमीन पूनावाला ने अपनी लिव-इन पार्टनर की हत्या और फिर उसके टुकड़े कर इन टुकड़ों को जंगल में फेंकने की बात कही थी। जिसके बाद से पुलिस कई बार जंगल की खाक छान चुकी है। अलग-अलग जगहों से पुलिस को यह हड्डियां मिली हैं।

 

मंगलवार को आफताब की कस्टडी खत्म

 

मंगलवार को श्रद्धा मर्डर केस के आरोपी आफताब अमीन पूनावाला की पुलिस कस्टडी खत्म हो रही है। इससे पहले पुलिस ज्यादा से ज्यादा सबूत जुटाना चाहती है। रविवार को पुलिस एक बार फिर आफताब अमीन पूनावाला को लेकर उसके प्लैट पर पहुंची थी। पुलिस ने यहां काफी छानबीन की है।

CG Job Bulletin: CGKV RECRUITMENT 2023: अंशकालीन शिक्षक की वेकेंसी के लिए इस विश्वविद्यालय में आवेदन आमंत्रित | ऑनलाइन बुलेटिन डॉट इन
READ

 

बताया जा रहा है कि पुलिस की टीम यहां करीब 3 घंटे तक रही थी। इसके बाद आफताब अमीन पूनावाला के घर से काले रंग की पॉलिथिन में कुछ लेकर पुलिस अपने साथ गई थी। आफताब अमीन पूनावाला के महरौली स्थित उस प्लैट के बाहर लोगों की भीड़ जमा हो गई थी।

 

नार्को टेस्ट में उगल देगा सच? 

 

यूं तो आफताब अमीन पूनावाला से मिली कई जानकारियों के आधार पर पुलिस की तफ्तीश इस केस में आगे बढ़ी है। लेकिन यह भी कहा जा रहा है कि वो बार-बार पुलिस को बरगलाने की कोशिश कर रहा है। अब ऐसी भी संभावना है कि सोमवार को दिल्ली के डॉ. अंबेडकर अस्पताल में आफताब अमीन पूनावाला का नार्को टेस्ट किया जा सकता है। इस टेस्ट में आफताब अमीन पूनावाला द्वारा दी गई जानकारियों के बाद पुलिस की जांच आगे बढ़ेगी।

 

ये भी पढ़ें:

जब एक युवा नेता ने प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को दी थी खुली चुनौती, सालभर में छीन ली गई थी गुजरात मुख्यमंत्री की कुर्सी | ऑनलाइन बुलेटिन डॉट इन

 

 

Related Articles

Back to top button