.

चाइनीज loan ऐप केस में ईडी का शिकंजा, Razorpay-Paytm के ठिकानों पर छापेमारी chaineej loan aip kes mein eedee ka shikanja, razorpay-paytm ke thikaanon par chhaapemaaree

नई दिल्ली | [नेशनल बुलेटिन] | ईडी की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक शुक्रवार को 6 परिसरों में शुरू की गई तलाशी अभियान अब भी जारी है। चाइनीज लोन ऐप से जुड़े मामले में प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी ने ऑनलाइन पेमेंट गेटवे- Razorpay, Paytm, Cashfree के बेंगलुरु स्थित दफ्तर में छापेमारी की है।

 

मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक जांच एजेंसी ने छापेमारी के दौरान मर्चेंट आईडी और चीन के लोगों की ओर से नियंत्रित संस्थाओं के बैंक खातों में रखे गए 17 करोड़ रुपये को जब्त किया है।

 

कैसे हो रहा था काम

 

इन संस्थाओं का काम करने का तरीका यह है कि वे भारतीय लोगों के जाली दस्तावेजों का उपयोग करते हैं और उन्हें डमी निदेशक बनाते हैं। इन संस्थाओं को चीन के व्यक्तियों द्वारा नियंत्रित / संचालित किया जाता है। ईडी के मुताबिक यह ध्यान में आया है कि ये संस्थाएं अलग-अलग मर्चेंट आईडी, पेमेंट गेटवे / बैंकों के साथ रखे गए खातों के माध्यम से अपना संदिग्ध / अवैध व्यवसाय कर रही थीं।

 

किस आधार पर हो रही जांच

 

ईडी के मुताबिक जांच का यह मामला साइबर अपराध पुलिस स्टेशन, बेंगलुरु द्वारा दर्ज की गई 18 एफआईआर पर आधारित है। यह एफआईआर कई संस्थाओं / व्यक्तियों के खिलाफ दर्ज की गई है। इसमें संस्थाओं या व्यक्तियों पर आरोप है कि मोबाइल ऐप के माध्यम से छोटी राशि का लोन लेने वाले लोगों से जबरन वसूली की जाती है और उनका उत्पीड़न किया जाता है।

 

ईडी ने बताया कि रेजरपे प्राइवेट लिमिटेड, कैशफ्री पेमेंट्स, पेटीएम पेमेंट सर्विसेज लिमिटेड और चीनी व्यक्तियों द्वारा नियंत्रित / संचालित संस्थाओं के परिसरों को तलाशी अभियान में शामिल किया गया है।

 

 

 

ED screws up Chinese loan app case, Razorpay-Paytm locations raided

 

 

New Delhi | [National Bulletin] | According to the information given by the ED, the search operation started in 6 premises on Friday is still going on. In the case related to the Chinese loan app, the Enforcement Directorate ie ED has raided the office of online payment gateway- Razorpay, Paytm, Cashfree in Bangalore.

 

According to media reports, the investigating agency has seized Rs 17 crore kept in merchant IDs and bank accounts of entities controlled by Chinese people during the raids.

 

 how was the work going

 

The way these entities work is that they use fake documents of Indian people and make them dummy directors. These entities are controlled/operated by persons in China. According to the ED, it has come to notice that these entities were carrying on their suspicious/illegal business through accounts maintained with different merchant IDs, payment gateways/banks.

 

 investigation on what basis

 

According to the ED, this case of investigation is based on 18 FIRs registered by the Cyber ​​Crime Police Station, Bengaluru. This FIR has been registered against several entities/individuals. In this, it is alleged that institutions or individuals are extorted and harassed by people taking loans of small amount through mobile app.

 

The ED said that the premises of Razorpay Pvt Ltd, Cashfree Payments, Paytm Payment Services Ltd and entities controlled/ operated by Chinese persons have been included in the search operation.

 

 

कलेक्टर से सीतारमण के बर्ताव पर ‘बवाल’, मंत्री ने कहा- यह तमाशा IAS ऑफिसर्स का मनोबल गिराएगा kalektar se seetaaraman ke bartaav par bavaal, mantree ne kaha- yah tamaasha ias ophisars ka manobal giraega

 

Related Articles

Back to top button