.

धनेरु में लगाया शिविर, दवा वितरण के साथ घायल पशुओं का किया गया उपचार dhaneru mein lagaaya shivir, dava vitaran ke saath ghaayal pashuon ka kiya gaya upachaar

धनेरू | [राजस्थान बुलेटिन] | पशुपालन विभाग की ओर से आज ग्राम धनेरु में लंपी स्किन डिजीज से ग्रसित गौवंश के लिए शिविर लगाया गया। जिसमें गौवंश को लक्षणानुरूप उपचार दिया गया । जिसमें 108 गौवंश लाभांवित हुए। शिविर प्रभारी डा. सुभाष घारू ने उपस्थित सभी पशुपालकों को इस बीमारी के बारे में प्रबंधन के बारे में जानकारी दी एवम कहा कि यदि इस बीमारी में उपचार किया जाए तो पशु के जल्द स्वस्थ होने की संभावना बढ़ जाती है। यदि सभी ग्रामवासी मिलकर कर इन पशुओं का पशु चिकित्सक से संपर्क कर उपचार करवाएं तो इस रोग में मृत्युदर को कम किया जा सकता है।

 

इस शिविर में दवा वितरण के साथ ही लंपी स्किन डिजीज बीमारी से ग्रसित घायल गौवंश का भी पशुपालन विभाग की टीम द्वारा उपचार किया गया ।

 

इस कार्य में श्री मोहन स्वामी (सरपंच), श्री पेमाराम मेघवाल (उपसरपंच), श्री बाबूलाल जोशी (समाजसेवी), श्री ओमप्रकाश (पुजारी तेजाजी धाम), श्री नागरमल सुथार), श्री मनोज पारीक, श्री हरनाथ सिद्ध, श्री कानाराम तर्ड, पशुधन सहायक श्री पूर्णमल मेहरड़ा, श्री मेवासिंह इत्यादि ने सहयोग किया। सरपंच श्री मोहन स्वामी ने ग्रामवासियों की ओर से पशुपालन विभाग की समस्त टीम को धन्यवाद ज्ञापित किया।

 

 

Camp set up in Dhaneru, treatment of injured animals with medicine distribution

 

 

Dhaneru | [Rajasthan Bulletin] | On behalf of the Animal Husbandry Department, a camp was organized in village Dhaneru for the cows suffering from lumpy skin disease. In which the cows were given symptomatic treatment. In which 108 cows were benefitted. Camp in-charge Dr. Subhash Gharu informed all the livestock owners about the management of this disease and said that if treatment is done in this disease, then the chances of recovery of the animal increases soon. If all the villagers come together and get these animals treated by contacting a veterinarian, then the mortality rate in this disease can be reduced.

 

मानवता धर्म है maanavata dharm hai
READ

In this camp, along with the distribution of medicines, the injured cows suffering from lumpy skin disease were also treated by the team of Animal Husbandry Department.

 

Shri Mohan Swami (Sarpanch), Shri Pemaram Meghwal (Up Sarpanch), Shri Babulal Joshi (Social Service), Shri Omprakash (Priest Tejaji Dham), Shri Nagarmal Suthar), Shri Manoj Pareek, Shri Harnath Siddha, Shri Kanaram Tard, Livestock Assistants Mr. Purnmal Mehrada, Mr. Mewasingh etc. cooperated. Sarpanch Shri Mohan Swamy, on behalf of the villagers, thanked the entire team of Animal Husbandry Department.

 

 

छेड़छाड़ की एफआईआर नहीं होगी रद्द, शिकायत गलत निकली तो लड़की देगी क्षतिपूर्ति chhedachhaad kee ephaeeaar nahin hogee radd, shikaayat galat nikalee to ladakee degee kshatipoorti

 

 

 

Related Articles

Back to top button