.

क्रिप्टो स्कैम के आरोपी को हो सकती है 40,000 साल से ज्यादा की जेल, पढ़ें kripto skaim ke aaropee ko ho sakatee hai 40,000 saal se jyaada kee jel, padhen

नई दिल्ली | [नेशनल बुलेटिन] | डिजिटल ट्रेंड्स की रिपोर्ट में बताया गया है कि फारुक फतेह ओजर ने साल 2017 में थोडेक्स (Thodex) नाम से तुर्की क्रिप्टो एक्सचेंज कंपनी की शुरुआत की थी। फारुक दो अरब डॉलर (करीब 159.4 अरब रुपये) से ज्यादा की रकम के साथ स्कैम करके पिछले एक साल से ज्यादा वक्त से फरार था। रिपोर्ट की मानें तो इसके लिए उसे 40,564 साल तक जेल की सजा सुनाई जा सकती है।

 

क्रिप्टोकरेंसी के चर्चा में आते ही इससे जुड़े स्कैम भी शुरू हो गए और ढेरों यूजर्स इनका शिकार बन चुके हैं। ऐसे स्कैम करने वालों को कितनी सजा मिल सकती है, यह जानकर शायद आप हैरान रह जाएं। तुर्की में गिरफ्तार किए गए एक क्रिप्टो स्कैमर को 40,000 साल से ज्यादा की जेल की सजा सुनाई जा सकती है। फारुक फतेह ओजन नाम के इस क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज फाउंडर को बीते दिनों गिरफ्तार किया गया है।

 

लाखों लोगों ने क्रिप्टोकरेंसी में किया था निवेश

 

थोडेक्स क्रिप्टो एक्सचेंज कंपनी में निवेश करने वालों की संख्या सात लाख के करीब बताई जा रही है। रिपोर्ट के मुताबिक, तुर्की की करेंसी में आ रही गिरावट के चलते ढेरों नागरिकों ने क्रिप्टो में निवेश किया, जिसका फायदा थोडेक्स को मिला। शुरुआत के कुछ साल बाद ही यह कंपनी सारी रकम के साथ गायब हो गई और इसने अपने क्रिप्टो से जुड़े सभी काम रोक दिए, जिसके बाद कानूनी एजेंसियों ने इसपर नकेल कसने की शुरुआत की।

 

झूठे दावे कर कंपनी ने बंद कर दी थी ट्रेडिंग

 

साल 2021 में थोडेक्स ने अचानक क्रिप्टो ट्रेडिंग बंद कर दी और दावा किया कि एक बाहरी निवेश के चलते उसे करीब पांच दिन के लिए काम बंद करना पड़ा। इसके बाद फारुक ने दावा किया कि कंपनी को पूरी तरह ट्रेडिंग बंद करनी होगी और साइबर अटैक से जुड़े खतरों को इसकी वजह बताया। उन्होंने दावा किया कि यूजर्स के फंड्स सुरक्षित रहेंगे, लेकिन ना सिर्फ यूजर्स से उनका अकाउंट ऐक्सेस ले लिया गया, बल्कि उनके फंड्स भी गायब कर दिए गए।

 

गिरफ्तारी के बाद अब तुर्की में होगी सुनवाई

 

तुर्की पुलिस ने कार्रवाई करते हुए कंपनी के कई कर्मचारियों को हिरासत में लिया था, लेकिन फारुक भागकर अलबेनिया में छुप गया था। आरोप था कि वह अपने निवेशकों और यूजर्स के फंड्स से दो अरब डॉलर की रकम लेकर भागा है। करीब एक साल बाद बीते दिनों उसे अलबेनिया के वलोर शहर से गिरफ्तार किया गया है और उसकी पहचान की पुष्टि हुई है। थोडेक्स के दूसरे कर्मचारियों के साथ उसके खिलाफ चल रहे मामलों पर भी अब तुर्की में सुनवाई होगी।

 

 

 

Crypto scam accused could be jailed for more than 40,000 years, read

 

New Delhi | [National Bulletin] | It has been reported in Digital Trends that Farooq Fateh Ozar started a Turkish crypto exchange company named Thodex in the year 2017. Farooq was absconding for more than a year after scamming with more than two billion dollars (about Rs 159.4 billion). According to the report, for this he can be sentenced to 40,564 years in prison.

 

As soon as cryptocurrency came into the discussion, scams related to it also started and many users have become victims of them. You might be surprised to know how much punishment such scammers can get. A crypto scammer arrested in Turkey could be sentenced to over 40,000 years in prison. This cryptocurrency exchange founder named Farooq Fateh Ojan has been arrested in the past.

 

 Millions of people had invested in cryptocurrencies

 

The number of people investing in the Thodex crypto exchange company is said to be close to seven lakhs. According to the report, due to the decline in Turkish currency, many citizens invested in crypto, which benefited Thodex. A few years after the launch, this company disappeared with all the money and it stopped all its crypto-related work, after which legal agencies started cracking down on it.

 

The company had stopped trading by making false claims

 

In the year 2021, Thodex suddenly stopped trading crypto and claimed that it had to stop operations for about five days due to an outside investment. Farooq then claimed that the company would have to stop trading completely and cited threats related to cyber attacks as the reason. They claimed that users’ funds would be safe, but not only were users taken away from their accounts, but their funds were also lost.

 

 After the arrest, the hearing will now be held in Turkey

 

Turkish police took action and detained several employees of the company, but Farouk fled and hid in Albania. It was alleged that he ran away with two billion dollars from the funds of his investors and users. About a year later, he has been arrested from the city of Valor in Albania and his identity has been confirmed. The cases against him along with other Thodex employees will now be heard in Turkey.

 

चाइनीज loan ऐप केस में ईडी का शिकंजा, Razorpay-Paytm के ठिकानों पर छापेमारी chaineej loan aip kes mein eedee ka shikanja, razorpay-paytm ke thikaanon par chhaapemaaree

 

 

Related Articles

Back to top button