.

न्यूयॉर्क टाइम्स ने बताया, कैसे बनी दिल्ली शिक्षा प्रणाली पर खबर ? nyooyork taims ne bataaya, kaise banee dillee shiksha pranaalee par khabar ?

नई दिल्ली | [नेशनल बुलेटिन] | दिल्ली के शिक्षा मॉडल की प्रशंसा वाली स्टोरी अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स (NYT) में छपने को लेकर भाजपा की ओर से लगाए गए पेड न्यूज के आरोपों के बाद अखबार ने शुक्रवार को इस पर अपनी सफाई दी है। न्यूयॉर्क टाइम्स ने पेड न्यूज के आरोप को खारिज करते हुए कहा कि दिल्ली की शिक्षा प्रणाली पर उसकी स्टोरी ‘निष्पक्ष और जमीनी रिपोर्टिंग’ पर आधारित थी।

 

‘आप’ सरकार की आबकारी नीति के निर्माण और कार्यान्वयन में कथित अनियमितताओं के संबंध में शुक्रवार को सीबीआई द्वारा दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के आवास पर सीबीआई की छापेमारी के बाद इस रिपोर्ट ने भाजपा और आप (आम आदमी पार्टी) के बीच जुबानी जंग शुरू कर दी है।

 

‘आप’ ने कहा कि जब NYT ने शिक्षा के दिल्ली मॉडल पर सकारात्मक खबर छापी तो नरेंद्र मोदी सरकार ने सीबीआई को सिसोदिया के घर भेज दिया और भाजपा ने यह कहकर पलटवार किया कि यह एक ‘पेड’ आर्टिकल है।

 

इस मामले में स्पष्टीकरण की मांग पर NYT के एक्सटर्नल कम्यूनिकेशन डायरेक्टर निकोल टायलर ने एक ईमेल में बताया, “दिल्ली की शिक्षा प्रणाली में सुधार के प्रयासों के बारे में हमारी रिपोर्ट निष्पक्ष, ऑन-द-ग्राउंड रिपोर्टिंग पर आधारित है।”

 

उन्होंने कहा कि शिक्षा एक ऐसा मुद्दा है जिसे द न्यूयॉर्क टाइम्स ने कई वर्षों से कवर किया है। टायलर ने कहा, “द न्यूयॉर्क टाइम्स की पत्रकारिता हमेशा स्वतंत्र होती है, राजनीतिक या विज्ञापनदाताओं के प्रभाव से मुक्त होती है।”

 

इस आरोप पर कि खलीज टाइम्स द्वारा भी यही स्टोरी प्रकाशित की गई थी, टायलर ने स्पष्ट किया कि अन्य समाचार आउटलेट नियमित रूप से लाइसेंस लेते हैं और हमारी स्टोरीज को पुनः प्रकाशित करते हैं।

संपर्क क्रांति में युवती से रेप, ट्रेन से फेंकने की धमकी देकर भगाया; फ्रीजर में छिपा पेंट्रीकार कर्मी गिरफ्तार l ऑनलाइन बुलेटिन
READ

 

18 अगस्त को, द न्यूयॉर्क टाइम्स ने आम आदमी पार्टी के शासन के दौरान दिल्ली की शिक्षा प्रणाली में हुए व्यापक परिवर्तन पर प्रकाश डालते हुए, अपने अंतर्राष्ट्रीय संस्करण के पहले पन्ने में ‘Our children are worth it’, शीर्षक से स्टोरी प्रकाशित की और कहा कि “भारत की राजधानी में पब्लिक स्कूलों के ओवरहाल के कारण छात्र नामांकन के लिए संघर्ष कर रहे हैं।

 

स्टोरी के साथ, NYT ने दिल्ली सरकार के स्कूलों की तीन छात्राओं के साथ सिसोदिया की एक तस्वीर प्रकाशित की, जिसके साथ कैप्शन लिखा, “दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने स्कूलों का औचक दौरा कर ओवरहाल की शुरुआत की। अब भारत के अन्य राज्य दिल्ली मॉडल अपनाने पर जोर दे रहे हैं।”

 

भाजपा ने लगाया पेड न्यूज का आरोप

 

बता दें कि, भाजपा ने दिल्ली की आम आदमी पार्टी (आप) सरकार पर हमला बोलने के लिए शुक्रवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की उस टिप्पणी का इस्तेमाल किया, जिसमें उन्होंने कहा था कि ”न्यूयॉर्क टाइम्स में खबर प्रकाशित कराना बहुत मुश्किल है।”

 

केजरीवाल की यह टिप्पणी राष्ट्रीय राजधानी में ‘आप’ सरकार के शिक्षा मॉडल पर अमेरिकी अखबार में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की तस्वीर के साथ एक लेख प्रकाशित होने के संबंध में आई थी। भाजपा सांसदों ने आरोप लगाया कि यह स्टोरी ‘पेड’ (पैसे देकर प्रकाशित कराई गई) रही होगी, लेकिन ‘आप’ ने पलटवार करते हुए इसे बेतुका दावा करार दिया।

 

 

New York Times told, how was the news on Delhi’s education system made?

 

New Delhi | [National Bulletin] | The newspaper on Friday gave its clarification after allegations of paid news made by the BJP for publishing a story praising Delhi’s education model in the American newspaper New York Times (NYT). The New York Times rubbished the allegation of paid news, saying its story on Delhi’s education system was based on “fair and on-the-ground reporting”.

 

क्या है पवार पैटर्न, जिससे CBI और ED का मुकाबला कर रहे केजरीवाल और सिसोदिया, जानें kya hai pavaar paitarn, jisase chbi aur aid ka mukaabala kar rahe kejareevaal aur sisodiya, jaanen
READ

The report triggered a war of words between the BJP and the AAP (Aam Aadmi Party) after the CBI raided the residence of Delhi Deputy Chief Minister Manish Sisodia on Friday in connection with alleged irregularities in the formulation and implementation of the excise policy of the AAP government. Done.

 

The AAP said that when the NYT published positive news on the Delhi model of education, the Narendra Modi government sent the CBI to Sisodia’s house and the BJP retaliated by saying it was a ‘paid’ article.

 

“Our report on efforts to reform Delhi’s education system is based on unbiased, on-the-ground reporting,” NYT’s external communications director Nicole Tyler said in an email, seeking clarification.

 

He said that education is an issue that The New York Times has covered for many years. “The journalism of The New York Times has always been independent, free from political or advertiser influence,” Tyler said.

 

On allegations that the same story was published by Khaleej Times, Tyler clarified that other news outlets routinely license and republish Our Stories.

 

On 18 August, The New York Times published a front page story of its international edition titled ‘Our children are worth it’, highlighting the vast changes that Delhi’s education system underwent during the Aam Aadmi Party’s rule. That “Students are struggling to enroll because of the overhaul of public schools in India’s capital.

 

Along with the story, NYT published a picture of Sisodia with three girl students from Delhi government schools, with the caption, “Delhi Education Minister Manish Sisodia initiates the overhaul by taking a surprise visit to the schools. Now in other states of India Emphasizing on adopting the Delhi model.”

सावधान : मूल वायरस के मुकाबले 318% तेज गति से फैल रहा ओमिक्रॉन l ऑनलाइन बुलेटिन
READ

 

 BJP alleges paid news

 

The BJP on Friday used Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal’s remark to attack the Aam Aadmi Party (AAP) government in Delhi, in which he said that “it is very difficult to publish news in the New York Times”. .”

 

Kejriwal’s remarks came in connection with the publication of an article in a US newspaper on the education model of the AAP government in the national capital with a picture of Deputy Chief Minister Manish Sisodia. BJP MPs alleged that this story must have been ‘paid’ (published by paying money), but ‘AAP’ hit back and termed it as an absurd claim.

 

 

बिकने जा रहा देश का पहला सरकारी 5 स्टार होटल, पढ़ें खास बातें bikane ja raha desh ka pahala sarakaaree 5 staar hotal, padhen khaas baaten

 

Related Articles

Back to top button