.

Shraddha Walkar Murder Case: पॉलीग्राफ टेस्ट में इंग्लिश में जवाब देने लगा आफताब, हिंदी में पूछे गए थे ऐसे सवाल | ऑनलाइन बुलेटिन डॉट इन

नई दिल्ली | [नेशनल बुलेटिन] | Shraddha Murder Case: श्रद्धा वॉकर मर्डर केस में रोजाना नए-नए खुलासे हो रहे हैं। बॉडी के 35 टुकड़े करने के आरोपी आफताब अमीन पूनावाला से सच उगलवाने के लिए पुलिस उसका पॉलीग्राफ टेस्ट भी करवा रही है। गुरुवार को दिल्ली के रोहिणी में FSL (फॉरेंसिक साइंस लैबोरेट्री) में 8 घंटों तक आफताब का पॉलीग्राफ टेस्ट चला।

 

इस दौरान, उससे सवाल किए गए कि कैसे उसने अपराध को अंजाम दिया, उसके श्रद्धा वॉकर के साथ संबंध कैसे थे। इसके अलावा उसके बचपन, परिवार से संबंधित भी कई सवाल-जवाब किए गए।

 

पॉलीग्राफ टेस्ट लगभग सुबह 11:50 बजे शुरू हुआ। शुरुआत में उसका ब्लड प्रेशर मापा गया। पॉलीग्राफ टेस्ट के दौरान आफताब अमीन पूनावाला से उसके बचपन, उसके दोस्तों और लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वॉकर के साथ उनके संबंधों के बारे में पूछताछ की गई।

 

आफताब अमीन पूनावाला से मामले के बारे में अधिक जानकारी ली गई कि वॉकर को मारने के पीछे वजह क्या थी। अपराध करने के बाद वह शव को ठिकाने लगाने के लिए कहां-कहां गया।

 

हालांकि, आफताब अमीन पूनावाला से सवाल तो हिंदी में पूछे गए, लेकिन वह जवाब अंग्रेजी में दे रहा था।

 

डेटिंग से संबंधित भी पूछे गए सवाल

 

‘इंडिया टुडे’ के अनुसार, आफताब अमीन पूनावाला से उन घटनाओं के क्रम के बारे में भी पूछा गया जो डेटिंग शुरू करने के बाद से घटित हुई थीं। इसके अलावा, यह भी सवाल हुआ कि आखिर उसने 35 टुकड़े करने के बाद उसे निपटाने का फैसला कैसे किया।

 

Ashok Gehlot vs Sachin Pilot: सोनिया गांधी के बगल में अशोक गहलोत को मिली जगह, नहीं काम कर रही सचिन पायलट की रणनीति, क्या फिर राजस्थान में हो गया खेला, फोटो के क्या मायने? | ऑनलाइन बुलेटिन
READ

सूत्रों ने कहा कि एफएसएल अधिकारी और विशेषज्ञ उन जगहों का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं जहां उसने अपनी लिव-इन पार्टनर के कटे हुए शरीर के अंगों और उसके फोन को भी ठिकाने लगाया होगा, जिससे उन्हें आगे की जांच में मदद मिलेगी।

 

आफताब से पूछे गए 50 सवाल

 

सूत्रों ने बताया कि आफताब अमीन पूनावाला ने पॉलीग्राफ टेस्ट के दौरान सहयोग किया और उससे लगभग 50 प्रश्न पूछे गए। बुधवार को परीक्षण नहीं किया जा सका था, क्योंकि आफताब अमीन पूनावाला को बुखार था। एफएसएल के एक सूत्र ने एक न्यूज एजेंसी के हवाले से कहा कि उससे यह भी पूछा गया कि आफताब ने किस तरह के हथियार से श्रद्धा के शरीर के टुकड़े किए।

 

वहीं, आफताब अमीन पूनावाला को मंगलवार को पॉलीग्राफ टेस्ट के पहले सत्र से गुजरना पड़ा, जिसे लाई डिटेक्टर टेस्ट भी कहा जाता है। इस सप्ताह की शुरुआत में पुलिस ने दिल्ली की एक अदालत से आफताब अमीन पूनावाला की हिरासत बढ़ाने और उसका पॉलीग्राफ और नार्को-विश्लेषण परीक्षण करने की अनुमति मांगी थी। पुलिस ने कहा कि नार्को टेस्ट अगले सप्ताह होने की संभावना है।

 

ये भी पढ़ें:

भूपेश कैबिनेट ने आरक्षण से जुड़े 2 विधेयकों को दी मंजूरी, अब इन्हें विधानसभा के विशेष सत्र में पेश करेगी राज्य सरकार | ऑनलाइन बुलेटिन डॉट इन

 

Related Articles

Back to top button