.

स्क्रब टाइफस वायरस ने दी दस्तक, अब तक कोई वैक्सीन नहीं, जारी किया अलर्ट skrab taiphas vaayaras ne dee dastak, ab tak koee vaikseen nahin, jaaree kiya alart

नई दिल्ली | [नेशनल बुलेटिन] | चूहे और छछूंदर से फैलने वाली स्क्रब टाइफस बीमारी ओरिएंटिया त्सुत्सुगामुशी बैक्टीरिया के कारण होती है। इंसानों में यह बीमारी संक्रमित चिगर्स के काटने से फैलता है। और इसे ‘ बुश टाइफस के नाम से भी जाना जाता है।

 

जानकारों की मानें तो इसके लक्षणों में बुखार और ठंड लगना शामिल है। जिसके बाद सिरदर्द, शरीर में दर्द और मांसपेशियों में दर्द होता है। एक स्क्रब टाइफस रोगी के कई मामलों में विपरीत गंध और स्वाद बना रहता हैं। और वहीं कुछ रोगियों में जोड़ों में दर्द भी होता है जो चिकनगुनिया का भी लक्षण है।

 

फिलहाल स्क्रब टाइफस से बचाव के लिए अभी तक कोई वैक्सीन उपलब्ध नहीं है। लेकिन कुछ निर्धारित नियमों के अनुसार आप संक्रमित चिगर्स के संपर्क में आने से खुद को बचा सकते हैं। कोई स्क्रब टाइफस से संक्रमित हो जाता है, तो व्यक्ति को एंटीबायोटिक डॉक्सीसाइक्लिन से इलाज करना चाहिए।

 

मध्य प्रदेश में स्क्रब टाइफस वायरस का खतरा लगातार बढ़ रहा है। प्रदेश के चार जिलों में इस वायरस के लगभग 32 मामले सामने आ चुके हैं। और इनमें से सबसे ज्यादा मरीज मंदसौर में सामने आए हैं। मंदसौर, बैतूल, जबलपुर और सतना में स्क्रब टाइफस वायरस संक्रमित मरीज मिले हैं। भोपाल एम्स में जांच के दौरान इसकी पुष्टि हुई है।

 

वहीं प्रदेश के सभी जिलों में स्वास्थ्य विभाग ने इसे देखते हुए अलर्ट जारी किया है। इसके साथ ही डॉक्टरों ने निर्देश दिए कि अगर किसी भी व्यक्ति हो 5 या उससे अधिक दिन तक बुखार आता है तो तुरंत इसकी जांच करवाएं। फिलहाल 10 बड़े निजी अस्पतालों में लगभग 160 से अधिक मरीजों का इलाज चल रहा हैं। और स्क्रब टाइफस वायरस के चलते एमपी में एक मरीज की फेफड़े और किडनी फेल होने से मौत भी हो चुकी है।

 

 

Scrub typhus virus knocked, no vaccine yet, alert issued

 

New Delhi | [National Bulletin] | Scrub typhus is a disease caused by the Orientia tsutsugamushi bacterium, which is spread by rats and mice. The disease is transmitted to humans through the bite of infected chiggers. And it is also known as ‘Bush typhus’.

 

According to experts, its symptoms include fever and chills. This is followed by headache, body aches and muscle aches. In many cases of a scrub typhus patient, the opposite smell and taste persist. And at the same time some patients also have joint pain which is also a symptom of Chikungunya.

 

There is currently no vaccine available to prevent scrub typhus. But by following some set rules, you can protect yourself from coming in contact with infected chiggers. If someone becomes infected with scrub typhus, the person should be treated with the antibiotic doxycycline.

 

The risk of scrub typhus virus is increasing continuously in Madhya Pradesh. About 32 cases of this virus have been reported in four districts of the state. And most of these patients have come to the fore in Mandsaur. Scrub typhus virus infected patients have been found in Mandsaur, Betul, Jabalpur and Satna. This has been confirmed during the investigation at Bhopal AIIMS.

 

At the same time, in all the districts of the state, the Health Department has issued an alert in view of this. Along with this, the doctors instructed that if any person has fever for 5 or more days, then get it checked immediately. At present, more than 160 patients are being treated in 10 big private hospitals. And due to scrub typhus virus, a patient has also died in MP due to lung and kidney failure.

 

 

क्रिप्टो स्कैम के आरोपी को हो सकती है 40,000 साल से ज्यादा की जेल, पढ़ें kripto skaim ke aaropee ko ho sakatee hai 40,000 saal se jyaada kee jel, padhen

 

 

Related Articles

Back to top button