.

सिंहदेव के इस्तीफे पर विपक्ष का दूसरे दिन भी हंगामा, भाजपा ने पूछा- इस्तीफा मंजूर हो गया क्या? sinhadev ke isteephe par vipaksh ka doosare din bhee hangaama, bhaajapa ne poochha- isteepha manjoor ho gaya kya?

रायपुर | [छत्तीसगढ़ बुलेटिन] | मंत्री टीएस सिंहदेव के इस्तीफे पर छत्तीसगढ़ विधानसभा के मॉनसून सत्र के दूसरे दिन भी हंगामा जारी रहा। विपक्ष ने सदन में मंत्री टीएस सिंहदेव की अनुपस्थिति और उनके विभाग से संबंधित प्रश्न पर मंत्री मोहम्मद अकबर द्वारा जवाब दिए जाने पर प्रदेश सरकार को घेरा। प्रश्नकाल शुरू होते ही भाजपा विधायक अजय चंद्राकर ने कहा कि पंचायत विभाग का प्रश्न है और पंचायत मंत्री इस्तीफा दे चुके हैं क्या? विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने कहा, मंत्री सदन में मौजूद नहीं हैं। उनकी जगह पर उन्होंने अधिकृत किया है। इसके बाद भाजपा विधायकों का हंगामा शुरू हो गया।

 

भाजपा विधायक अजय चंद्राकर ने कहा कि जो व्यक्ति इस्तीफा दे चुका है, वह अधिकृत कैसे कर सकता है। इस पर अध्यक्ष महंत ने कहा कि उनका इस्तीफा अभी मंजूर नहीं हुआ है। रविंद्र चौबे ने कहा कि मंत्री ने अपने पत्र में इस्तीफा शब्द का उपयोग किया ही नहीं किया है।

 

इस पर नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि इस मामले का निपटारा होना चाहिए, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी यहां हैं। उनका जवाब आना चाहिए। इसके बाद पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह ने प्रधानमंत्री आवास योजना पर सवाल उठाए। इस प्रश्न पर खूब हंगामा हुआ। उसके बाद भाजपा ने सदन से वॉक आउट कर दिया।

 

विधायक बोले -पिकअप नहीं पकड़ रही शराब

 

विधानसभा में विधायक नारायण चंदेल ने शराब में मिलावट और शराब की अवैध बिक्री को लेकर सवाल पूछा। उन्होंने कहा कि जांजगीर-चांपा में पियक्कड़ों का एक प्रतिनिधिमंडल उनसे मिला था। उन लोगों ने कहा कि शराब पिकअप नहीं पकड़ रही है। सदन में इस मामले में हंसी-ठिठोली भी हुई।

शिक्षा कला साहित्य एकेडमी कोरबा इकाई ने टीचर्स डे पर शिक्षिका मंजुला को किया सम्मानित | Newsforum
READ

 

आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने जवाब में कहा कि जांजगीर-चांपा में शिकायत मिली थी और वहां कार्रवाई की गई है। सब इंस्पेक्टर को निलंबित किया गया है। रायगढ़ में 5 शिकायतें थीं। वहां प्लेसमेंट एजेंसी को हटा दिया गया है। इंस्पेक्टर स्तर के अधिकारी को निलंबित किया गया है। जांच की जरूरत नहीं है।

 

 

 

Opposition’s uproar on Singhdev’s resignation on the second day, BJP asked – was the resignation accepted?

 

Raipur | [Chhattisgarh Bulletin] | The ruckus continued on the second day of the monsoon session of the Chhattisgarh Legislative Assembly over the resignation of Minister TS Singhdeo. The opposition surrounded the state government on the absence of Minister TS Singhdev in the House and the reply by Minister Mohammad Akbar on the question related to his department. As soon as the question hour started, BJP MLA Ajay Chandrakar said that it is a question of Panchayat department and has the Panchayat minister resigned? Speaker of the Assembly Dr. Charandas Mahant said, the minister is not present in the house. In his place he has authorized. After this, the commotion of BJP MLAs started.

 

BJP MLA Ajay Chandrakar said that the person who has resigned, how can he authorize. On this, the President Mahant said that his resignation has not been accepted yet. Ravindra Choubey said that the minister has not even used the word resignation in his letter.

 

On this, Leader of Opposition Dharamlal Kaushik said that this matter should be settled, Chief Minister Bhupesh Baghel is also here. His answer should come. After this, former CM Dr. Raman Singh raised questions on the Prime Minister’s Housing Scheme. There was a lot of uproar over this question. After that BJP walked out of the house.

CG breaking: बेरोजगारी को लेकर बरसीं पुरंदेश्वरी : सरकार के दावों को बताया झूठा chg braiaking: berojagaaree ko lekar baraseen purandeshvaree : sarakaar ke daavon ko bataaya jhootha
READ

 

 MLA said – liquor is not catching pickup

 

In the assembly, MLA Narayan Chandel asked a question regarding adulteration of liquor and illegal sale of liquor. He said that a delegation of drunkards had met him at Janjgir-Champa. Those people said that the liquor is not catching the pickup. There was laughter in the House on this matter.

 

Excise Minister Kawasi Lakhma said in response that a complaint was received in Janjgir-Champa and action has been taken there. The sub-inspector has been suspended. There were 5 complaints in Raigarh. There the placement agency has been removed. Inspector level officer has been suspended. No need to check.

 

 

 

देश में पुलिस सेवा को बनाया जाए बेहतर desh mein pulis seva ko banaaya jae behatar

 

 

Related Articles

Back to top button