.

दलाई लामा का संदेश हर समुदाय के लिए प्रासंगिक- कलेक्टर श्री कुन्दन कुमार dalaee laama ka sandesh har samudaay ke lie praasangik- kalektar shree kundan kumaar

अम्बिकापुर | [छत्तीसगढ़ बुलेटिन] | कलेक्टर श्री कुन्दन कुमार बुधवार को तिब्बती आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा के 87 वीं जन्म दिवस के अवसर पर मैनपाट के तिब्बती कैम्प नंबर 1 में आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कलेक्टर श्री कुन्दन कुमार ने दलाई लामा को जन्म दिन की बधाई देते हुए उनके स्वस्थ व दीर्घायु जीवन की कामना की। उन्होंने कहा कि दलाई लामा ने अहिंसा, शांति, प्रेम, सद्भाव की जो संदेश दुनिया को दिया है वह आज भी सभी समुदायों के लिए प्रासंगिक है।

 

हमें उनके संदेशों को अपने जीवन में उतारने का प्रयास करना चाहिए। सभी समुदायों में सौहार्द्र और शांति बनी रहे। उन्होंने कहा कि दलाई लामा के शिक्षा को अनुसरण कर सभी समुदाय जीवन में आगे बढ़ सकते हैं।

 

इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ श्री विनय कुमार लंगेह, डीएफओ श्री पंकज कमल सहित अन्य अधिकारी एवं बड़ी संख्या में तिब्बती समाज के लोग उपस्थित थे। इस अवसर पर तिब्बती बच्चों व युवाओं द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया।

 

 

 

Dalai Lama’s message is relevant to every community- Collector Kundan Kumar

 

 

Ambikapur | [Chhattisgarh Bulletin] | Collector Shri Kundan Kumar attended the program organized at Tibetan Camp No. 1 in Mainpat on the occasion of 87th birth anniversary of Tibetan spiritual leader Dalai Lama on Wednesday. Addressing the program, Collector Kundan Kumar congratulated the Dalai Lama on his birthday and wished him a healthy and long life. He said that the message of non-violence, peace, love, harmony given by the Dalai Lama to the world is relevant for all communities even today.

 

We should try to apply their messages in our lives. May there be harmony and peace in all the communities. He said that by following the teachings of the Dalai Lama, all communities can move forward in life.

 

 

On this occasion, District Panchayat CEO Shri Vinay Kumar Langeh, DFO Shri Pankaj Kamal along with other officials and a large number of people of Tibetan society were present. A cultural program was presented by Tibetan children and youth on the occasion.

 

 

आज के समय में बच्चों को संस्कार व शिक्षा देना जरुरी- गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू aaj ke samay mein bachchon ko sanskaar va shiksha dena jaruree- grhamantree taamradhvaj saahoo

 

 

 

 

Related Articles

Back to top button