.

“जितना बड़ा संघर्ष होगा, जीत उतनी ही शानदार होगी” : विवेकानंद “jitana bada sangharsh hoga, jeet utanee hee shaanadaar hogee” : vivekaanand

©पूनम सुलाने-सिंगल

परिचय– श्रीनगर से….


 

 

जैसे की हम सब जानते हैं, हमारे भारत देश में अनेक महापुरुषों का जन्म हुआ है और ऐसे महान पुरुषों के विचार हमेशा ही हम सबके लिए प्रेरणादाई रहे हैं, जीवन पथ पर चलते हुए जब भी हमें हार का सामना करना पड़ता है,, जब भी हमारे जीवन में चारों तरफ निराशा का अँधियारा छाता है,, ऐसे समय में हम सबके लिए महापुरुषों के विचार एक अँधियारे में जलते हुए ज्योति की तरह काम करते हैं।

 

महापुरुषों के विचारों को पढ़कर उन्हें अपने जीवन में उतारने से हमारे जीवन में चेतना का एक नया संचार होता है,, ऐसे ही महान पुरुषों में से स्वामी विवेकानंद जिनका आज 4 जुलाई स्मृति दिवस के अवसर पर आइए जानते हैं स्वामी जी के महान विचारों में से कुछ खास विचार जो हमें जीवन में हमेशा हौसला देते रहेंगे।

 

स्वामी विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी 1863 को कलकत्ता में हुआ था।उनका बचपन का नाम नरेंद्र नाथ दत्त था। स्वामी विवेकानंद नाम उनको उनके गुरु रामकृष्ण परमहंस ने दिया था।

 

हर मानव के हृदय में भगवान का दर्शन करने वाले हर बंधन से अपने आपको हमेशा आजाद रखने वाले महान पुरुष स्वामी विवेकानंद ने अपने ज्ञानमय में विचारों से सभी को हमेशा भी प्रभावित किया।

 

उनमें से कुछ खास अनमोल विचार जो आप सभी को अपने जीवन में हौसला देंगे।

 

“सफलता किस्मत से नहीं मेहनत से मिलती है”-:

 

युवाओं को मार्गदर्शन करते हुए स्वामी विवेकानंद अक्सर एक बात कहा करते थे की,, ‘उठो, जागो और तब तक मत रुको जब तक लक्ष्य ना प्राप्त हो जाये।’उनका यह प्रेरणादाई विचार हमें यह सिखाता है कि,, बार बार असफलता के लिए अपनी किस्मत को दोष देते रहने से अच्छा है की सफलता के लिए हम तब तक मेहनत करें जब तक हम सफल ना हो।

 

“दुनिया का सबसे बड़ा पाप खुद को कमजोर समझना है”-:

 

हर व्यक्ति के ह्रदय में ईश्वर का दर्शन करने वाले स्वामी विवेकानंद हर युवा में शक्ति और साहस का संचार देखना चाहते थे, स्वामी विवेकानंद ने हमेशा युवाओं के भीतर जो भी क्षमताए छुपी थी उनको अपने विचारों द्वारा जगाने का काम किया है परिस्थिति कोई भी हो अपने आपको किसी से भी कमजोर समझना मतलब दुनिया का सबसे बड़ा पाप है यह उनका विचार अपनी शक्तियों को जानकर उनका उपयोग करने की प्रेरणा हम सभी को देता है।

जरा देखके चल jara dekh ke chal
READ

 

“जब तक आप खुद पर विश्वास नहीं करते तब तक आप भगवान पर विश्वास नहीं कर सकते”-:

 

अपने आप पर विश्वास करना एक ऐसी शक्ति है, जो हमें अपने जीवन को सफलता की ओर ले जाती है, खुद पर विश्वास करना मतलब परमात्मा हमेशा हमारे साथ है इस विश्वास का मन में होना, जब तक हम अपने आप पर विश्वास नहीं करते तब तक हम परमात्मा पर विश्वास नहीं कर सकते हैं यह स्वामी विवेकानंद का विचार हमें अपने आप पर विश्वास करने की प्रेरणा देता है।

 

“एक समय में एक काम करो और ऐसा करते समय अपनी पूरी आत्मा उसमें डाल दो और बाकी सब कुछ भूल जाओ”-:

 

किसी भी काम में हम तब तक सफल नहीं होते जब तक हम उसे पूरी मेहनत और लगन से नहीं करते, जब भी कोई एक काम हम कर रहे होते हैं तब हमारा अपना मन कई और भटक रहा होता है इसके चलते हमें अपना काम का परिणाम उतना अच्छे से नहीं मिलता जितना हमने उसमें मेहनत की होती है।

 

इसलिए काम चाहे जो भी कर रहे हैं वह करते समय कभी भी यह नहीं सोचना है कि यह काम छोटा है या फिर बड़ा उससे पूरे लगन से सब कुछ भूल कर अपनी आत्मा को उस में डाल कर अगर उस काम को किया जाए तो उसका अच्छा परिणाम हमें जरूर प्राप्त होता है यह सुंदर प्रेरणा हमें स्वामी विवेकानंद के इस महान विचार से मिलती है।

 

“जो खुद को पहचान ले, जो खुद को ईश्वर से जोड़ ले, उसे जीवन का लक्ष्य प्राप्त करने से कोई नहीं रोक सकता है”:-

 

जितना वक्त हम अपने आपको दूसरों की नजरों से देखने में लगा देते हैं,, काश उतना वक्त हम अपने आप को तराशने में लगा दे तो जीवन में हम सबसे सफल व्यक्ति बन सकते हैं, खुद की खुद से पहचान जब हो जाती है तभी जाकर हमें अपने जीवन का महत्व पता चलता है, जो कुछ भी हो रहा है ईश्वर की मर्जी से हो रहा है इस बात का स्वीकार करके अगर हम पूरी ईमानदारी से अपना कर्म करते रहे तो एक दिन अपने जीवन के लक्ष्य को हम जरूर हासिल कर सकते हैं। यह प्रेरणा हमें स्वामी विवेकानंद के इस विचार से मिलती है।

अहिंसा के पुजारी महावीर स्वामी | ऑनलाइन बुलेटिन
READ

 

स्वामी विवेकानंद के स्मृति दिवस के अवसर पर, लिखे हुए यह स्वामी विवेकानंद के महान विचारों में से कुछ विचार जरूर आपके जीवन में आपको प्रेरणा देंगे आशा करते हैं।

 

 

 !!धन्यवाद !!

 

 

पूनम सुलाने-सिंगल

Poonam Sulane

 

 

“The bigger the struggle, the more glorious the victory”: Vivekananda

 

 

As we all know, many great men have been born in our country of India and the thoughts of such great men have always been an inspiration to all of us, whenever we have to face defeat while walking on the path of life, whenever There is darkness of despair all around in our life, in such times the thoughts of great men work like a burning light in a darkness for all of us.

 

By reading the thoughts of great men and bringing them into our lives, there is a new communication of consciousness in our life, Swami Vivekananda, one of such great men, today on the occasion of 4th July Memorial Day, let us know one of the great thoughts of Swamiji. Some special thoughts that will always encourage us in life.

 

Swami Vivekananda was born on 12 January 1863 in Calcutta. His childhood name was Narendra Nath Dutt. The name Swami Vivekananda was given to him by his guru Ramakrishna Paramhansa.

 

Swami Vivekananda, the great man who always kept himself free from every bondage who saw God in the heart of every human, always influenced everyone with his thoughts in his knowledge.

 

Some of those special priceless thoughts that will encourage you all in your life.

 

“Success comes not by luck but by hard work”-:

 

While guiding the youth, Swami Vivekananda often said one thing, ‘Arise, awake and do not stop until the goal is achieved’. It is better to keep blaming our luck that we work hard for success till we are not successful.

 

“The greatest sin in the world is to consider yourself weak”-:

 

Swami Vivekananda, who saw God in the heart of every person, wanted to see the infusion of strength and courage in every youth, Swami Vivekananda has always worked to awaken the hidden potential within the youth through his thoughts, whatever the situation may be. To consider you weaker than anyone means the biggest sin in the world, this idea of ​​them knowing their strengths gives us all the inspiration to use them.

छत्तीसगढ़ के सुकमा में मुठभेड़, 5 लाख का खूंखार नक्सली कमलेश ढेर chhatteesagadh ke sukama mein muthabhed, 5 laakh ka khoonkhaar naksalee kamalesh dher
READ

 

“You can’t believe in God until you believe in yourself”-:

 

Believing in ourselves is such a power, which leads us to success in our life, to believe in ourselves means to have this belief in our mind, till we believe in ourselves We cannot believe in God, this Swami Vivekananda’s thought inspires us to believe in ourselves.

 

“Do one thing at a time and while doing so put your whole soul into it and forget everything else”-:

 

We are not successful in any work until we do it with full hard work and dedication, whenever we are doing any one work, then our own mind is wandering in many more, due to which we have to get the result of our work as much. We do not get it as well as we have worked hard in it.

 

Therefore, no matter what work you are doing, never think that this work is small or big, forgetting everything with full dedication and putting your soul in it, if that work is done then its good result. We definitely get this beautiful inspiration we get from this great idea of ​​Swami Vivekananda.

 

“One who recognizes himself, who associates himself with God, no one can stop him from achieving the goal of life”:-

 

The amount of time we spend in looking at ourselves through the eyes of others, I wish we could spend that much time in carving ourselves, then we can become the most successful person in life, when we identify ourselves with ourselves, then only we can go The importance of our life is known, by accepting that whatever is happening is happening according to the will of God, if we keep doing our work sincerely, then one day we can definitely achieve the goal of our life. We get this inspiration from this idea of ​​Swami Vivekananda.

 

On the occasion of Swami Vivekananda’s Memorial Day, I hope some of these great thoughts of Swami Vivekananda will surely inspire you in your life.

!!Thank you !!

 

 

 

Related Articles

Back to top button