.

मंच नमन | ऑनलाइन बुलेटिन डॉट इन

©राजेश श्रीवास्तव राज

परिचय- गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश.


 

घूम घूम मांग रहे,

नेता सारे वोट यहां,

दांव पेच खूब यहाँ,

साथ यह चला रहे,

जाति धर्म भूल सभी,

नीतियां सिखला रहे,

मनाते लुभाते सभी,

आंकड़े जुटाते सभी।

 

मीडिया के बोल बड़े,

खुद को जितवा रहे,

पुलिस भी आज जहाँ,

मतों को डलवा रहे,

राष्ट्र धर्म बचा रहे,

नेताजी समझा रहे,

मत का प्रयोग करें,

हम पर यकीं करें।।

 

ये भी पढ़ें:

भीम – कविता…. | ऑनलाइन बुलेटिन

चुगली | Newsforum
READ

Related Articles

Back to top button