.

‘चाइल्ड पोर्न क्लिप 20 रुपये में बेचे गए’… महिला आयोग ने दिल्ली पुलिस और ट्विटर को भेजा समन | ऑनलाइन बुलेटिन

नई दिल्ली | [नेशनल बुलेटिन] | चाइल्ड पोर्नोग्राफी पर ऐक्शन लेने की मांग को लेकर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने मंगलवार को दिल्ली पुलिस और ट्विटर को पत्र लिखा। उन्होंने कहा कि इसके कुछ संबंधित वीडियो ट्विटर पर 20 रुपये में बेचे गए। जबकि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म इन पोस्ट को हटाने में विफल रहा। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा कि ट्विटर और दिल्ली पुलिस को समन का जवाब देने के लिए 26 सितंबर तक का समय दिया गया है।

 

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने ट्विटर पर लिखा, “हजारों लोगों ने युवा लड़कियों के साथ बलात्कार की रिकॉर्डिंग साझा की है। महिलाओं के नहाने के वीडियो खुफिया कैमरों के माध्यम से डाले जा रहे हैं। ये कंपनियां विदेशों में कानूनों का पालन करती हैं और भारत में महिलाओं की अश्लीलता और बलात्कार से आंखें मूंद लेती हैं।”

 

उन्होंने ट्विटर से सवाल किया कि इस तरह के वीडियो प्लेटफॉर्म पर कैसे मौजूद हैं? साथ ही सामग्री को प्रदर्शित करने के लिए उसकी क्या नीतियां हैं? मालीवाल ने दिल्ली पुलिस से इस तरह के वीडियो को फिल्माने और अपलोड करने में शामिल लोगों के साथ-साथ पीड़ितों और आरोपियों की पहचान करने के लिए प्राथमिकी दर्ज करने को कहा है।

 

मोहाली कांड पर भी कहा

 

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने आगे कहा, “चंडीगढ़ विश्वविद्यालय की घटना ने मुझे सोचने पर मजबूर कर दिया और मैंने अपनी टीम से जांच करने के लिए कहा है। हमें ट्विटर पर नाबालिग लड़कियों के वीडियो मिले जिनमें उनके साथ बलात्कार होते देखा गया। कुछ प्लेटफॉर्म इन वीडियो को ₹20 से ₹30 तक बेच रहे थे। यह भयानक है।”

 

 

गौरतलब है कि पंजाब के मोहाली में चंडीगढ़ विश्वविद्यालय के परिसर में शनिवार रात उस रिपोर्ट के बाद विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए कि एक लड़की ने कथित तौर पर कई छात्रों की आपत्तिजनक फिल्मों को टेप किया और इसे दूसरों के साथ साझा किया। जिसके बाद मुख्यमंत्री भगवंत मान ने जांच के आदेश दिए। मामले में अब तक 4 गिरफ्तारियां हो चुकी हैं। हालांकि आरोप साबित नहीं हो पाए हैं।

 

 

छत्तीसगढ़ की तरह हिमाचल और गुजरात में OPS का वादा, CM भूपेश बोले- हमने समझा कर्मचारियों का दर्द | ऑनलाइन बुलेटिन

 

 

 

 

Related Articles

Back to top button