.

सिंहदेव पर CM पिता नंदकुमार का तीखा प्रहार, बोले- आधा अधूरा इस्तीफा क्या देना, मंत्रिमंडल से हट जाएं sinhadev par chm pita nandakumaar ka teekha prahaar, bole- aadha adhoora isteepha kya dena, mantrimandal se hat jaen

बैकुंठपुर | [छत्तीसगढ़ बुलेटिन] | अखिल भारतीय कुर्मी महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पिता नंदकुमार बघेल ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव आधा अधूरा इस्तीफा न दें। यदि सरकार में नहीं रहना है तो पूरी तरह से इस्तीफा दें। सिंहदेव को प्रदेश सरकार पसंद नहीं है तो पूरी तरह से इस्तीफा देकर अलग हो जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि उनको एक बात मंजूर है, लेकिन दूसरी बात मंजूर नहीं। इस तरह का इस्तीफा गलत है।

 

दरअसल, नंदकुमार बघेल कोरिया जिले के प्रवास पर आए थे। इस दौरान मनेंद्रगढ़ के रेस्ट हाउस में टीएस सिंहदेव के पंचायत विभाग छोड़ने पर मीडिया को यह बयान दिया।

 

मीडिया से चर्चा के दौरान अखिल भारतीय कुर्मी महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष नंदकुमार बघेल ने एक समुदाय विशेष के खिलाफ टिप्पणी भी कर दी। उन्होंने एक समुदाय विशेष को संबोधित करते हुए कहा कि वे हमें अछूत मानते हैं, उनका पैर पडऩा पड़ता है। वे विदेशी हैं और 6 हजार साल पहले रूस, साइबेरिया से आए हैं। वे गाय का दूध नहीं पीते हैं, वे रस पीते हैं। गाय का रस पीने वालों से हम नफरत करते हैं।

 

जैसे गोरस से गोड़से हैं और गोड़से ने महात्मा गांधी की हत्या की थी। गोली लगने के बाद गांधीजी ने गोड़से के लिए कहा था कि उसे फांसी नहीं होनी चाहिए, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें फांसी दी।

 

विवादित बयान पर हुए थे गिरफ्तार

 

अखिल भारतीय कुर्मी महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष नंदकुमार बघेल कई बार अपने बयानों के चलते विवादों में रहे हैं। सितंबर-2021 में उन्होंने उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में ब्राह्मण समाज पर टिप्पणी की थी। उन्होंने कहा था कि अब वोट हमारा राज तुम्हारा नहीं चलेगा। हम यह आंदोलन करेंगे। ब्राह्मणों को गंगा से वोल्गा (रूस की एक नदी) भेजेंगे, क्योंकि वे विदेशी हैं। जिस तरह से अंग्रेज आए और चले गए। उसी तरह से ये ब्राह्मण या तो सुधर जाएं या फिर गंगा से वोल्गा जाने को तैयार रहें।

हिंदी दिवस पर शिक्षक मुकुंद उपाध्याय को मिला सम्मान पत्र | Newsforum
READ

 

इस बयान का ब्राह्मण समाज ने विरोध किया था। समाज द्वारा रायपुर के डीडी नगर थाने में FIR दर्ज कराने के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया था। उन्हें रायपुर कोर्ट ने 14 दिनों के न्यायिक हिरासत में जेल भेजा था। उस दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा था कि पिता होने के नाते उनका पूरा सम्मान है, लेकिन किसी समाज के खिलाफ अगर बात कही गई है तो उनके खिलाफ कार्रवाई होगी, क्योंकि कानून से ऊपर कोई नहीं है।

 

 

CM’s father Nandkumar’s scathing attack on Singhdev, said – what to resign half-incompletely, leave the cabinet

 

 

Baikunthpur | [Chhattisgarh Bulletin] | National President of All India Kurmi Mahasabha and Chief Minister Bhupesh Baghel’s father Nandkumar Baghel said that Health Minister TS Singhdev should not resign half-incompletely. If you don’t want to be in government, then resign completely. If Singhdev does not like the state government, then he should resign completely and leave. He said that one thing is acceptable to him, but the other thing is not acceptable. Such resignation is wrong.

 

Actually, Nandkumar Baghel had come on a stay in Korea district. During this, TS Singhdev gave this statement to the media after leaving the Panchayat Department at the rest house of Manendragarh.

 

During the discussion with the media, National President of Akhil Bharatiya Kurmi Mahasabha, Nandkumar Baghel also made remarks against a particular community. Addressing a particular community, he said that they consider us untouchables, their feet have to be broken. They are exotic and have come from Russia, Siberia, 6 thousand years ago. They don’t drink cow’s milk, they drink juice. We hate those who drink cow’s juice.

नगरीय प्रशासन एवं विकास तथा श्रम मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया ने आरंग में गौठान के पास पशु औषधालय का किया शुभारंभ | ऑनलाइन बुलेटिन
READ

 

Like Godse is from Goras and Godse killed Mahatma Gandhi. After being shot, Gandhiji had told Godse that he should not be hanged, but the Supreme Court hanged him.

 

Arrested for controversial statement

 

Nandkumar Baghel, the national president of Akhil Bharatiya Kurmi Mahasabha, has been in controversies many times due to his statements. In September-2021, he commented on the Brahmin society in Lucknow, the capital of Uttar Pradesh. He had said that now your vote will not be our rule. We will do this movement. Will send Brahmins from the Ganges to the Volga (a river in Russia), because they are foreigners. The way the British came and went. In the same way, these brahmins should either be reformed or be ready to go from the Ganges to the Volga.

 

This statement was opposed by the Brahmin community. He was arrested after the society lodged an FIR at DD Nagar police station in Raipur. He was sent to jail in 14 days judicial custody by the Raipur Court. During that time, Chief Minister Bhupesh Baghel had said that he has full respect as a father, but if anything is said against any society, then action will be taken against him, because no one is above the law.

 

 

बस्तर से निकल अब दिल्ली पहुंचेगी ‘गन-रेप-मर्डर’ के पीड़ित आदिवासियों की ये लड़ाई bastar se nikal ab dillee pahunchegee gan-rep-mardar ke peedit aadivaasiyon kee ye ladaee

 

Related Articles

Back to top button