.

बाल दिवस | ऑनलाइन बुलेटिन डॉट इन

©अरुणा अग्रवाल

परिचय- लोरमी, मुंगेली, छत्तीसगढ़.


 

 

नेहरू जी को बच्चों से था असीम प्यार

उनके जन्मदिन पर देते,सुन्दर उपहार,

लाल,बाल के बीच मनाते थे जन्मदिन,

इसलिए “बाल दिवस “नाम हुआ,सुमन.।।।

 

नेहरू जी भारत के प्रथम प्रधानमंत्री,

लिऐ प्रगतिशील शोच,ओज और तेज,

पंचशील नीति के थे प्रणेता,सुवीर,

स्मित हास्य सुशोभित उपर,अधर.।।।

 

मनहरण व्यक्तित्व के थे धनी,

हीराकुंड बांध का किया निर्माण,

कई जन कल्याणी योजना,

कुछ भूल भी हुआ था वह,मानी.।।।

 

भारत का बटवारा जैसे कुछ कदम,

छबि हुआ था प्रभावित,वह,उत्तम,

फिर भी बने थे चहेते नेता सुकुमार,

जन्मदिन हुआ “बालदिवस “मनोहर.।।।

 

हर शिक्षानुष्ठान मनाता “बालदिवस”

बाल,लाल से था अगाध प्यार-सुबास,

आओ हम भी याद करले,महा,माही,

जन्मदिन पे श्रद्धा गुलाब,करते अर्पण.।

 

ये भी पढ़ें :

भागीरथी गंगा | ऑनलाइन बुलेटिन

 

शहीद-ए-आज़म; राजगुरु, सुखदेव, भगतसिंह | ऑनलाइन बुलेटिन
READ

Related Articles

Back to top button