.

लौह पुरुष सरदार बल्लभ भाई पटेल | ऑनलाइन बुलेटिन डॉट इन

©बुद्धि सागर गौतम

परिचय- गोरखपुर, उत्तर-प्रदेश


 

जन्म लिए गुजरात में, बल्लभ जी सरदार।

मात-पिता ने प्यार से, पाला दिया दुलार।

 

बल्लभ जी सरदार को, वंदन बारंबार।

किया देश को संगठित बहुत-बहुत आभार।

 

अंग्रेजों से भी लड़े, बल्लभ जी सरदार।

आजादी दिलवा दिए, किए  बड़ा उपकार।

 

गृहमंत्री थे देश के, बल्लभ जी सरदार।

भारत सेवा कर किए, भारत का उद्घार।

 

लौह पुरुष के नाम से, जाने सकल जहान।

नेक कार्य करके बने, देखो आज महान।

 

प्रतिभाशाली थे बहुत, वाणी में था जोश।

लौह पुरुष को जब सुनें, उड़ते दुश्मन होश।

 

आजादी नायक रहे, जंग लड़े थे खूब।

सभी रियासत को मिला, देश किए मजबूत।

 

आजादी भी मिल गयी, देश हुआ मजबूत।

लौह पुरुष सरदार को, नमन करें हम खूब।

 

लंदन में पढ़कर बनें, बैरिस्टर सरदार।

भारत में आकर दिए, सेवा-भाव दुलार।

 

ये भी पढ़ें :

बलात्कारी छूटते | ऑनलाइन बुलेटिन

कुंडलिया, पार लगाना | ऑनलाइन बुलेटिन
READ

Related Articles

Back to top button