.

ज्ञान का रोशनी है शिक्षक | ऑनलाइन बुलेटिन

©रामभरोस टोण्डे

परिचय- बिलासपुर, छत्तीसगढ़.


 

 

शिक्षा से बढ़कर,

कोई धन नहीं।

शिक्षा ही जीवन का,

अनमोल उपहार हैं।

 

गुरू बिना ज्ञान नहीं,

देते हैं ज्ञान जीवन का।

गुरू के चरणों में,

ज्ञान का दीप मिलें।

 

अज्ञानी को दीमक,

दिखाने वाले शिक्षक।

ज्ञान की शिक्षा से,

जीवन को रोशन करता हैं शिक्षक।

 

सदाबहार फूल की तरह,

शिक्षा की रोशनी से।

हमारे जीवन का उजाला हैं शिक्षक,

शिक्षक हमारे ज्ञान का दीपक हैं।

 

गुरू की अमृतवाणी से,

सच्चे ज्ञान हमें मिलती हैं।

ज्ञान का प्रकाश,

जीवन जीना शिखा देते हैं शिक्षक।

 

 

जय हो गुरुदेव | ऑनलाइन बुलेटिन

 

Related Articles

Back to top button