.

शिक्षक दिवस | ऑनलाइन बुलेटिन

©अरुणा अग्रवाल

परिचय- लोरमी, मुंगेली, छत्तीसगढ़.


 

 

भारतवर्ष है सर्वोच्च, शिखर,

धात्री, जननी, महान विभूतियां,

सर्वपल्ली राधाकृष्णन, महान,

जिनका जन्मदिन “शिक्षक दिवस”।।

 

भारतवर्ष के द्वितीय राष्ट्रपति,

शिक्षाविद, नेता, बहुआयामी,

व्यक्तित्व के धनी,स्वाभिमानी,

न था तनिक गुमान, शिरोमणि।।

 

सरल-सहज, सादगीपूर्ण, जीवन,

उच्च विचार, नैतिकता में रमण,

आध्यात्मिकता से ओतप्रोत,

सुधीर, वाक्पटुता से मोहन।।

 

 

लाल, बाल थे उन्हें प्यारे, दुलारे,

स्वयं को मानते थे शिक्षक, ताउम्र,

सो, उनका जन्म-दिन, स्वर्णिम,

“शिक्षक दिवस” रूप में, सर्वविदित।।

 

शिक्षक, बालक, शिक्षानुष्ठान,

सरकारी, गैर-सरकारी, संन्था,

मनाता शिक्षक दिवस सहर्ष,

ऐसे युग-पुरुष को कोटिश नमन।।

 

 

अक्षर बीज | ऑनलाइन बुलेटिन

Related Articles

Check Also
Close
Back to top button