.

मेरी यादें ….

©पुष्पराज देवहरे भारतवासी 

परिचय- रायपुर, छत्तीसगढ़.


 

 

कभी ना कभी तो उसे मेरी याद आई होंगी

कभी तो मेरी यादें उसे रात भर जगाई होंगी ||

 

सांसे थम जाती हैं, हर पल दिल रोता हैं मेरा

अश्कों का समंदर कभी तो उसे डूबाई होंगी ||

 

जब से तुम गई हो झूठ बोलना सिख चूका हूँ

हाल दिल मेरा, कभी तो लोगो को बताई होंगी ||

 

मुझ में मैं ना रहा दिल पुकार रहा तुम्हें आजा

मेरे दिल की आवाज़ कभी तो उसे सुनाई होंगी ||

 

काली घटाओं की बारिश मेरी धड़कन बढ़ाये

सावन की बारिशें कभी तो तुम्हें रुलाई होंगी ||

 

Pushpraj Deohare
पुष्पराज देवहरे भारतवासी

सोशल मीडिया :

 

फेसबुक ग्रुप में जुड़े

 

व्हाट्सएप ग्रुप में जुड़े

 

ONLINE bulletin dot in में प्रतिदिन सरकारी नौकरी, सरकारी योजनाएं, ऑटो सेक्टर, गैजेट्स, परीक्षा पाठ्यक्रम, समय सारिणी, परीक्षा परिणाम, सम-सामयिक विषयों और कई अन्य के लिए onlinebulletin.in का अनुसरण करते रहें.

* अगर आपका कोई भाई, दोस्त या रिलेटिव इन भर्तियों के लिए एलिजिबल है तो उन तक www.onlinebulletin.in को यह जरूर पहुंचाएं।

 

ये खबर भी पढ़ें:

Buddha Purnima डॉ. अंबेडकर जन सर्वांगीण विकास समिति ने मनाया अनोखे अंदाज में देखें वीडियो…

मर्ज़-ए-इश्क | ऑनलाइन बुलेटिन
READ

Related Articles

Back to top button