.

NTPC सीपत में बड़ा हादसा, स्टोरेज टैंक फटने से टेक्नीशियन की मौत, प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप | ऑनलाइन बुलेटिन

बिलासपुर | [अनिल बघेल] | सीपत स्थित NTPC में बड़ा हादसा हो गया। यहां मल्चिंग मशीन की टेस्टिंग करते समय स्टोरेज टैंक फट गया, जिससे एक कर्मचारी की मौत हो गई। घटना की खबर देर शाम को ntpc से बाहर आई, यहां कर्मचारियों की संख्या ज्यादा होती तो गंभीर हादसा हो जाता। बताया जा रहा है कि हादसे के वक्त कर्मचारी अकेला काम कर रहा था।

 

हादसे के बाद गुस्साए कर्मचारियों के साथ ही स्थानीय लोगों ने जमकर हंगामा मचाया और NTPC प्रबंधन पर लापरवाही बरतने के आरोप लगाए।

 

जानकारी के अनुसार घटना बुधवार दोपहर की है। गतौरा निवासी नरेंद्र मिश्रा NTPC जूनियर टेक्नीशियन था। वे रोज की तरह सुबह अपनी ड्यूटी पर पहुंचा था। काम करते समय अचानक स्टोरेज टैंक में जोरदार ब्लास्ट हो गया। इस विस्फोट के बाद नरेंद्र मिश्रा के सिर में गंभीर चोट लगी और मौके पर ही उसकी मौत हो गई।

 

बताया जा रहा है कि जिस जगह पर नरेंद्र मिश्रा काम कर रहा था, वह वहां अकेला था। अचानक विस्फोट की आवाज सुनकर कर्मचारी दहशत में आ गए और इधर-उधर भागने लगे। कुछ देर बाद कर्मचारी वहां पहुंचे, तब पता चला कि इस हादसे में नरेंद्र मिश्रा गंभीर रूप से घायल पड़ा था। इस घटना की जानकारी मिलते ही प्रबंधन ने एंबुलेंस से उन्हें तत्काल अस्पताल पहुंचाया। लेकिन, उनकी मौत हो चुकी थी।

 

इस हादसे की खबर नरेंद्र मिश्रा के परिजन को दी गई। वहीं हादसे की खबर NTPC कर्मियों और आसपास के लोगों को मिली। तब लोगों की भीड़ NTPC अस्पताल पहुंच गई। यहां भाजपा युवा मोर्चा के पदाधिकारी और कार्यकर्ता भी पहुंच गए।

1857 व 1947 से भी मुश्किल दौर से गुजर रहे देश के मुसलमान, हिजाब विवाद पर ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड | ऑनलाइन बुलेटिन
READ

 

उन्होंने प्रबंधन पर मामले को दबाने और सुरक्षा उपाय में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा मचाया और धरने पर बैठ गए। NTPC के अफसर उन्हें समझाइश देकर शांत कराने की कोशिश करते रहे।

 

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि जिस समय हादसा हुआ, उस समय नरेंद्र मिश्रा अकेला था। वहां दर्जन भर कर्मचारियों की ड्यूटी लगती है। लेकिन, लंच के समय इधर-उधर गए थे। लौटने पर उन्हें हादसे की जानकारी हुई।

 

बताया जा रहा है कि हादसे के समय वहां ज्यादा कर्मचारी रहते तो उनकी भी जान जा सकती थी या फिर हादसे का शिकार हो सकते थे।

 

ये भी पढ़ें:

इदुमिस्थि जनजाति में आत्मा से संवाद का उत्सव है अरुणाचल का लोकनृत्य इगु, मृत्यु उपरांत उपवास कर संवाद किया जाता है मृतात्मा से | ऑनलाइन बुलेटिन

 

Related Articles

Back to top button