.

शादी से पहले, शादी के बाद shaadee se pahale, shaadee ke baad

©गुरुदीन वर्मा, आज़ाद 

परिचय– बारां, राजस्थान.


 

(हास्यात्मक रचना)

 

वह क्या खूब फबता था, अपनी शादी से पहले।
अब वह राख मलता है, अपनी शादी के बाद।।
बहारों में चलता था, अपनी शादी से पहले।
अब सड़कों पे सोता है, अपनी शादी के बाद।।
वह क्या खूब फबता था——————।।

वह महफ़िल जमाता था, अपनी शादी से पहले।
वह क्या खूब हंसता था, अपनी शादी से पहले।।
घर में बैठा शोक मनाता है, अपनी शादी के बाद।
अब वो खूब रोता है, अपनी शादी के बाद।।
वह क्या खूब फबता था—————–।।

अपनी शादी से पहले, हसीन देखे थे उसने ख्वाब।
होटल में खाना खाता था, बनकर दीवाना और नवाब।।
सब से अब पर्दा करता है, अपनी शादी के बाद।
उधारी करता है सबसे, अपनी शादी के बाद।।
वह क्या खूब फबता था——————-।।

हुस्न की करता था तारीफ, खत मुहब्बत के लिखता था।
हुक्म सब पर चलाता था, खुद को जी.आज़ाद कहता था।।
खत -ए-तलाक लिखता है, अपनी शादी के बाद।
गुलामी तुक की करता है, अपनी शादी के बाद।।
वह क्या खूब फबता था——————-।।

 

 

before marriage, after marriage

 

(comic composition)

 

 

What was he very fond of, before his marriage.
Now he rubs ashes, after his marriage.
Used to walk in the springs, before his marriage.
Now sleeps on the streets, after his marriage.
What was he so good at——————- ..

He used to gather gatherings, before his marriage.
What a lot he used to laugh, before his marriage.
Sitting at home mourns, after his marriage.
Now he cries a lot, after his marriage.
What was he so good at —————–

 

Before her marriage, Haseen had seen her dream.
Used to eat food in the hotel, became crazy and Nawab.
He veils everyone now, after his marriage.
Borrows the most, after his marriage.
What was he so good at ——————- ..

Used to praise beauty, used to write letters out of love.
He used to dictate on everyone, used to call himself G.Azad.
Writes khat-e-talaq, after his marriage.
Slavery makes fun of you, after your marriage.
What was he so good at ——————- ..

 

 

 

पुण्य उदय कर दो puny uday kar do

 

 

 

Related Articles

Back to top button