.

उठो साथियों | ऑनलाइन बुलेटिन डॉट इन

©डॉ. खन्नाप्रसाद अमीन

परिचय- बाकरोल, गुजरात


 

 

उठो साथियों

आगे बढ़ने के लिए

कदम मिलाकर चलना होगा

एक-दूसरे को ऊपर उठाकर चलना होगा ।

 

सदियों से

तुम्हारे सिर पर मंडराए हुए

काले बादल रूपी अंधेरा को

भगाना होगा

तूफानों से लड़ना होगा

चट्टानों से टकराना होगा

अस्पृश्यता और नस्लवाद का

करना होगा प्रतिकार ।

 

उठ खड़ा हो

इन सब के लिए

शिक्षित होना होगा

संगठित रहना होगा

संघर्ष भी करना होगा

हक और अधिकार जानने के लिए

संविधान को पढना होगा ।

 

तुम इतना आगे बढो

इतना आगे बढो कि-

आदमखोर भी आदाब करने लगे

तुम्हें देखकर

 

ऐसी योग्यताओं से तुम्हें

सुशोभित होना होगा ।।

 

ये भी पढ़ें : 

नारी | ऑनलाइन बुलेटिन डॉट इन

पेट्रोलियम की क़ीमत पर दैनिक जीवन का प्रभाव | ऑनलाइन बुलेटिन
READ

Related Articles

Back to top button