.

कर्नल विलियम लॅम्बटन | ऑनलाइन बुलेटिन डॉट इन

©मजीदबेग मुगल “शहज़ाद” 

परिचय- वर्धा, महाराष्ट्र


 

कर्नल विलियम लॅम्बटन जयंती बहाना है।

चाह हिगणघाट का नाम आगे लाना है ।।

 

लोग क्या नहीं करते हा शहर की खातिर।

जयंती का काम करके उसी राह जाना है।।

 

दुनिया देखे हिगणघाट ने क्या काम किया।

एक अजूबा पर्यटन स्थंल हमे बनाना है ।।

 

गंदगी का ठिकान टाका ग्राऊंड बदलेगा ।

शहेर के तमाम लोंग एक साथ आना है ।।

 

भारत का केंन्द्र बिन्दू शहर कहायेंगा।

बस अपनी शक्ती इस काम में लगाना है।।

 

स्फूर्ति का संचार शरीर में करने के लिये ।

सभी की गलत भ्रांतिया हम को हटाना है ।।

 

युवक वृध्द नगर की माॅ बहनों का योगदान ।

इतिहास हो लॅम्बटन समाधी का ठिकाना है।।

 

‘शहज़ाद ‘ अपने ध्येय को लेकर आगे बढ़ ।

गर हिगणघाट का नाम आगे बढ़ाना है ।।

 

ये भी पढ़ें :

थोड़ा मैं मशहूर होता जा रहा हूँ | ऑनलाइन बुलेटिन डॉट इन

 

शुभेंदु अधिकारी ने ममता बनर्जी से की मुलाकात, मुख्यमंत्री ने बताया भाई; जानें क्या मायने ? | ऑनलाइन बुलेटिन डॉट इन
READ

Related Articles

Back to top button